ISIS की महिला जिहादी ने किया खुलासा, आतंकी महिलाओं से रेप कर बेच देते हैं और…

Posted on July 11 2015 by pits

रक्‍का: दुनिया की खुंखार आतंकी संगठन आईएसआईएस की इस जिहादी महिला ने एक बड़ा खुलासा किया है। सैकड़ों यूरोपीय महिलाओं को आईएस तक पहुंचने में मदद करने वाली महिला जिहादी ने कहा कि यूरोपीय महिलाओं का इंतजार कर रहे आईएस के आतंकियों के हाथों में उनकी जिंदगी डरावनी हो जाती है।

माना जा रहा है कि सीरिया की 23 वर्षीय यह महिला तथाकथित खलीफा के लिए वरिष्‍ठ भूमिका निभाती थी। आईएस से अलग हुई इस महिला ने आईएस के अंदरूनी कामकाज के बारे में चौंकाने वाली जानकारी दी है। यह महिला तुर्की की सीमा के जरिये सीरिया पहुंचने वाली यूरोपीय महिलाओं को आईएस के ब्‍लैक क्‍लैड आर्मी में शामिल कराती थी।

जर्मनी के समाचार पत्र बिल्‍ड एम सोनटैग को दिए एक इंटरव्यू में उसने यूरोपीय महिलओं को चेतावनी देते हुए कहा कि खलीफा वह नहीं है, जो आप सोचते हैं। महिलाओं को मारा जाता है, बेचा जाता है और पत्‍थर मार-मारकर उनकी हत्‍या कर दी जाती है। उनके शव लोगों को दिखाने के लिए सड़कों पर हफ्तों तक पड़े रहते हैं।

यूरोपीय महिलाओं से मिलने के बाद वह उन्‍हें आईएस के खलीफा की राजधानी रक्‍का ले जाती थी। इनमें से अधिकांश महिलाएं ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी की होती थीं। महिला जिहादी ने स्‍वीकार किया कि वह आईएस के महिला आतंकी संगठन अल-खांसा की सदस्‍य थी। एक बार में उसने 50 लड़कियों के ग्रुप तक को सीरिया में आईएस के पास पहुंचाया है।

एक बार यहां लड़की के पहुंच जाने के बाद उसे चार हफ्तों तक हथियार चलाने का प्रशिक्षण और कुरान पढ़ाई जाती है। 15 वर्षीय एक जर्मन लड़की लियोनारा की तस्‍वीर दिखाए जाने पर महिला जिहादी ने बताया कि उसे रक्‍का पहुंचाने में उसने मदद की थी। उसने आगे बताया कि अब वह जीते जी कभी भी जर्मनी नहीं पहुंच पाएगी।

Powered By Indic IME