वैवाहिक जीवन में झगड़े का कारण बन सकती है ये बातें

Posted on June 27 2015 by pits

वैवाहिक जीवन में पति-पत्नी के बीच छोटे मोटे वाद-विवाद तो होते ही रहते हैं लेकिन कब यें झगड़े बढ़ जाएं पता ही नहीं चलता इसलिए चाहें वो पति हो या पत्नी दोनों को इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि आपसी झगड़ा होने पर किसी बाहर वाले को इस बात का संकेत भी न दें और हो सकें तो अपनी वाणी का प्रयोग भी सोचसमझ कर करें क्योंकि जुबान से एक बार निकले हुए शब्द वापिस नहीं जाते और न ही एेसी शब्दों का प्रयोग करें जो आप दोनों के रिश्तों में दरार पैदा कर दें । अगर आपस में झगड़ा हो भी जाएं तो इन बातों का ध्यान रखें क्योंकि यें हैं कुछ एेसे कारण जिनके कारण झगड़ा बढ़ सकता है ।

- वाणी पर नियंत्रण न रखना
आपस में झगड़ा होने पर कई बार हम एेसी वाणी का प्रयोग कर देते हैं जिससे हम दूसरों की नजरों में गिर जाते है और छोटे- छोटे झगड़े बड़ी लड़ाई का कारण बन जाते है और रिश्ते में प्यार कम होने के साथ- साथ आपसी रिश्तों में दरार पैदा हो जाती है ।

-अपने व्यूज देते समय
जब आप आपस में किसी को अपनी सलाह दे रहे हो या अापस में अपने विचार विमर्श कर रहे हो और किसी को आपके विचार पसंद न आए तो आपको गुस्सा तो आता ही है और साथ ही ये गुस्सा झगड़े का कारण बन जाता है ।

- गुस्सा  
अगर हम आपस में किसी बात को लेकर सहमत नहीं हैं जिससे हम उस असहमति को अपने मन से बाहर निकालने के लिए गुस्से में कुछ एेसे शब्दों का प्रयोग कर बैठते है जिससे आपसी झगड़ें बढ़ जाते हैं।

वैवाहिक जीवन में झगड़ा किसी भी कारण पैदा क्यों न हो हमें आवेश में आकर कभी भी एेसे शब्दों का प्रयोग नहीं करना जिससे दूसरे के मन को ठेस पहुंचे और अगर आपस में झगड़ा हो भी जाएं तो एक को चुप हो जाना चाहिए जिससे झगड़ा बढ़ने की नौबत नहीं आएगी ।

Powered By Indic IME