बारिश ने रोकी मुंबई की रफ्तार, लोग बेहाल

Posted on June 27 2015 by pits

मुंबई: देश की वित्तीय राजधानी मुंबई और इसके उपनगरों में मूसलाधार बारिश से आज जनजीवन थम सा गया। लोकल ट्रेनों की सेवाएं रद्द होने से हजारों मुसाफिर जहां थे वहीं फंस गए। जबरदस्त बारिश से यातायात भी बाधित हुआ और विमानों के परिचालन में देरी हुई।

मौसम विभाग के मुताबिक एक दिन में 300 मिलीलीटर बारिश से मुंबई की सड़कों पर कोहराम मचा हुआ है। मौसम विभाग ने अगले 48 घंटे बारिश के खतरे के चलते लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी है। भारी बारिश के चलते मुंबई को इन 10 मुसीबतों का सामना करना पड़ा।

बारिश में मुंबई का नजारा
1. मुंबई ठप है। मुसाफिर और लोग परेशान हैं। स्कूल कॉलेज और हाईकोर्ट बंद कर दिए गए हैं। लोकल कहीं खड़ी है तो कहीं रेंग रेंग कर चल रही है।

 

2. सड़कों पर पानी भरा होने की वजह से जगह-जगह गाड़ियां फंसी हैं तो कहीं लंबा जाम लगा है।

 

3. निचले इलाकों में कमर तक पानी भरा है। पिछले 18 घंटों की बारिश का पानी सड़कों से होते हुए घरों में घुस गया है। बारिश की वजह से मुंबई युनिवर्सिटी ने अपनी आज हो रही सभी परीक्षाएं रद्द कर दी हैं।

 

4. जबकि बीएमसी ने लोगों को घरों में रहने की हिदायत दी है। वहीं स्कूलों को भी बंद करने के निर्देश जारी किए गए हैं। बारिश का सबसे बुरा असर लोकल की सेवाओं पर पड़ा है।

 

5. सीएटी कुर्ला मेनलाइन और हार्बर लाइन ठप हैं। वहीं वेस्टर्न लाइन में जो ट्रेन हर 3 मिनट में चलती थी वो करीब आधे घंटे में एक बार चल रही है. बांद्रा ट्रैक पर पानी भर गया है। बीएमसी ने 170 से ज्यादा पंप लगाए हैं।

 

6. बारिश से शहर में पानी भरा तो सड़के भी धंसने लगी. चर्च गेट के पास एक कार सड़क के बीचों बीच धंस गई।

 

7. मुंबई और कुर्ला, चेंबूर, तिलक नगर, अंधेरी, परेल, लोअर परेल, ठाणे, नवी मुंबई और डोंबिवली सहित उसके उपनगरों के निचले इलाके में जलजमाव की खबर है।

 

8. भारी बारिश के कारण शिवसेना ने आज अपना स्थापना दिवस कार्यक्रम रद्द कर दिया जबकि बंबई उच्च न्यायालय ने वकीलों और कर्मचारियों के नहीं आ पाने के कारण आज छुट्टी घोषित कर दी।

 

9. मुंबई महानगर और क्षेत्र विकास प्राधिकरण (एमएमआरडीए) ने कहा है कि मेट्रो रेल और मोनो रेल की सेवाएं बाधित नहीं हुई वहीं मध्य रेलवे ने बारिश के कारण सात ट्रेनें रद्द कर दी।

 

10. बीएमसी ने कहा है कि किसी के हताहत होने या जमीन खिसकने या पेड़ों के गिरने जैसी घटनाओं की सूचना नहीं मिली है।

Powered By Indic IME