दुनिया का सबसे बड़ा ट्रांसपोर्ट ट्वॉयलैंड

Posted on June 27 2015 by pits

लगता है कि 74 वर्षीय हांस-पीटर पोर्श इस उम्र में भी दुनिया को बच्चों के नजरिए से देखना ही पसंद करते हैं । लग्जरी पोर्श कारें बनाने वाले दुनिया के सबसे अमीर घराने के इस वंशज का नया संग्रहालय हर तरह के वाहनों के खिलौना नमूनों को समर्पित है ।बेशक इस संग्रहालय में परिवहन इतिहास का ज्ञान देेने के लिए वाहनों के छोटे नमूनों को प्रदर्शित किया गया हो, संग्रहालय का आकार इतना बड़ा है कि यह अपने आप में एक रिकॉर्ड है । 20 जून को खुलने जा रहा यह दुनिया का सबसे बड़ा ट्रांसपोर्ट ट्वॉयलैंड (खिलौना वाहनों का संग्रहालय) है ।

इसमें हांस-पीटर के निजी संग्रह में शामिल कारों, समुद्री जहाजों, हवाई जहाजों तथा रेल गाड़ियों के मॉडल प्रदर्शित किए गए हैं । संग्रहालय 23 हजार वर्ग मीटर में बवेरिया के बेर्चेटेसगाडेन इलाके में स्थित है । ‘हांस-पीटर पोर्श ट्राऊमवेर्क’ (ड्रीम वक्र्स) नामक इस संग्रहालय में आगंतुकों के मनोरंजन हेतु 1 मील लम्बी नैरो गेज रेलवे लाइन भी बिछाई गई है ।फॉक्सवैगन के मशहूर आविष्कारक फर्दीनांद पोर्श के पोते हांस-पीटर पोर्श के लिए यह संग्रहालय किसी सपने के सच होने से कम नहीं है ।

अपने इस ‘ड्रीम लैंड’ के बारे में वह कहते हैं, ‘‘मैं चाहता हूं कि बच्चे यहां आकर खुश हों ।’’ उनके इस संग्रहालय का मुख्य आकर्षण 365 वर्ग मीटर में बनी रेलवे सेवा की एक नकल है । इसमें 2.7 किलोमीटर लम्बी रेल लाइन और 180 ट्रेनें हैं । इस प्रतिरूप में कम से कम 40 ट्रेनें एक साथ चलती हैं जो देखते ही बनती हैं । इस प्रतिरूप को ठीक असली इलाके जैसा तैयार करने का प्रयास किया गया है । जैसे कि इसमें कॉन्सटैन्स झील के इलाके तथा फ्रीड्रिखशाफ के फेरी टर्मिनल के अलावा फ्रेईलासिंग ट्रेन स्टेशन के प्रतिरूप भी तैयार किए गए हैं ।

इसके ऑस्ट्रियाई हिस्से में सेेमरिंग तथा टॉएर्न रेलवे लाइनों की हू-ब-हू नकल तैयार की गई है । इसी प्रकार स्विट्जरलैंड वाले हिस्से में गोथार्ड रेलवे तथा बियासचीना सुरंग देखी जा सकती हैं । हांस-पीटर ने इस संग्रहालय में स्टुटगार्ट स्थित अपनी कम्पनी की फैक्टरी सहित मुंडंग स्थित डिजाइन ऑफिस के प्रतिरूप भी स्थापित करवाए हैं । संग्रहालय में बनी हर चीज में उन्होंने वही सर्वोत्तम गुणवत्ता पेश करने का प्रयास किया है जिसका पालन उन्होंने बचपन से किया है ।

उदाहरण के लिए 13 वर्ष की उम्र में उन्होंने खुद एक मॉडल रेलवे तैयार की थी । अगले ही दिन इसे तोड़ कर उन्होंने दोबारा बनाया था क्योंकि वह इससे संतुष्ट नहीं थे ।वैसे यह संग्रहालय केवल उनके शौक को ही प्रदर्शित नहीं करता, यह उनके जैसे कई अन्य लोगों के प्रयासों को भी एक सलाम है । इनमें ऑस्ट्रियन गायक पीटर एलैग्जैंडर की मॉडल रेलवे भी शामिल है जिनका निधन वर्ष 2011 में हो गया था । उन्होंने अपनी इस छोटी-सी दुनिया में घंटों की मेहनत से स्टेशन, ब्रिज व टूरिस्ट रेस्तरां आदि के प्रतिरूप तैयार किए थे ।

पोर्श कम्पनी ने इसे एक नीलामी में खरीदा । संग्रहालय के अन्य आकर्षणों में हर प्रकार के परिवहन साधन के छोटे-बड़े नमूने तो हैं ही इनके अलावा स्टफ ट्वॉय तथा गुड़ियों के घर भी हैं जिन्हें हांस ने अपने जीवन के दौरान समय-समय पर खरीदा था । इन्हें संग्रहालय में 3500 वर्ग मीटर में 150 डिस्प्ले केसों में प्रदर्शित किया गया है । हांस के बेटे पीटर डैनियल पोर्श कहते हैं, ‘‘हम दिखाना चाहते हैं कि हाल के दौर में खिलौनों की दुनिया कितनी बदल चुकी है ।’’

संग्रहालय में कभी-कभार हांस-पीटर की असली पोर्श कारों का संग्रह भी प्रदर्शित किया जाएगा ।संग्रहालय के तैयार होने के बावजूद हांस पीटर का खिलौना संग्रह  करने का शौक बदस्तूर जारी है । घर पर उनके पास 230 टैडी बियर तथा भालू के डिजाइन वाली 580 टाई हैं ।कुछ लोग इस उम्र में उनके ऐसे शौक देख कर उन्हें सनकी भी कह जाते हैं परंतु यह बात तो पक्की है कि उन्हें ऐसी बातों की जरा भी परवाह नहीं है ।

Powered By Indic IME