मीन राशि के लिए कैसा रहेगा नया साल

Posted on March 18 2015 by pits

आने वाला नया साल आपके लिए और आपके परिवार के लिए कैसा होगा यह जानने की उत्सुकता प्रत्येक व्यक्ति को होती है। चन्द्र राशि के आधार पर आपको यह बताने की कोशिश कर रहा है कि आने वाला साल आपके लिए कैसा होगा। आमतौर पर राशि की गणना सूर्य और चन्द्र राशि के आधार पर होती है लेकिन भारतीय पराशर ज्योतिष में चन्द्र राशि को ही मान्यता है और जातक का नाम भी चन्द्र राशि के आधार पर ही तय होता है। यदि आपका नाम दि, दु, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, चि से शुरू होता है तो आपकी चन्द्र राशि मकर है। मकर राशि के लिए आने वाला साल कुछ ऐसा रहेगा।

जनवरी
इस राशि पर गुरू की स्वगृही के कारण धन-लाभ व उन्नति के अवसर मिलेंगे। साेची हुई याेजनाआें में सफलता प्राप्त हाेगी। धार्मिक कार्याें की आेर रूचि बढ़ेंगी। भाग्य स्थान में शनि कार्याें में विघ्नकारक हाेगा। खर्च भी बढ़-चढ़ कर रहेंगे। लग्नगत केतु के कारण गुप्त परेशानियां भी रहेंगी।

फरवरी
मासारम्भ में इस राशि पर केतु का संचार बना हुआ है, परन्तु इस राशि पर गुरू की स्वगृही दृष्टि पड़ने से आय के साधनाें में सुधार हाेगा। बिगड़े कामाें में सफलता प्राप्त हाेगी। परन्तु केस के कारण स्वास्थ्य नर्म तथा खर्चाें में विशेष तेजी रहेगी। श्री दुर्गा सप्तशती का पाठ करना शुभ हाेगा।

मार्च
मासारम्भ में अत्यधिक संघर्ष के बावजूद धन लाभ रहेंगे। अधिकाशं समय व्यर्थ के कामाें में व्यतीत हाेगा। उदर के विकार एवं आंखाें में कष्ट का भय है। उत्तरार्द्ध भाग में किए गए प्रयासाें में सफलता प्राप्त हाेगी।

अप्रैल
इस मास में किसी मित्र की सहायता से काेई बिगड़ा कार्य बनेगा। निर्वाह याेग्य धन प्राप्ति के साधन बने रहेंगे। पारिवारिक व व्यवसायिक उलझनें भी हाेंगी। वृथा, वाद-विवाद से बचें। विद्यार्थी वर्ग काे इन दिनाें पढ़ाई की आेर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। सूर्य उपासना एवं गायत्री जाप करना शुभ रहेगा।

मई
राशिस्वामी गुरू उच्चस्थ हाेने से परिवार में शुभ मंगल कार्य हाेंगे। पंचम में शुक्र हाेने से कुछ साेची याेजनाआें में आंशिक सफलता मिलेगी। परन्तु इस राशि पर केतु का संचार हाेने से स्वास्थ्य की हानि तथा घरेलु उलझनाें के कारण खर्च अधिक हाेंगे।

जून
मासारम्भ में केतु का संचार हाेने से व्यर्थ की भागदाैड़ आैर फिजूल खर्ची बढ़ेगी। कुछ बिगड़े काम बनेंगे। गुरू की दृष्टि हाेने से गत किए गए प्रयासाें में किंचित सफलता मिलेगी। गृह मेें काेई मंगलकार्य सम्पन्न हाेगा। परन्तु कुछ घरेलु उलझनाें के कारण मन अशान्त रहेगा। खर्च भी बढ़-चढ़ कर रहेंगे।

जुलाई
अचानक धन प्राप्ति के साधन बढ़ेंगे आैर नाैकरी में उन्नति के अवसर प्राप्त हाेंगे, परन्तु केतु के कारण उचित लाभ नहीं हाेगा। निकट बन्धुआें के साथ कलह-क्लेश एवं विवाद का भय। आदित्य ह्रदय स्त्राेत का पाठ करना शुभ हाेगा।

अगस्त
इस राशि पर केतु का संचार हाेने से बनते कार्याें में विघ्न उत्पन्न हाेंगे। आशाआें के अनुरूप सफलता प्राप्त नहीं हाेगी। मन उदासीन रहेगा। 26-27 अगस्त काे कुछ विवादास्पद मामले मानसिक तनाव का कारण बनेंगे। किसी निकट सम्बन्धी से तकरार हाेगी। धन का खर्च अधिक रहेगा। श्री लक्ष्मी सूक्त का पाठ करना शुभ हाेगा।

सितंबर
इस राशि में केतु का संचार तथा बुध की नीच दृष्टि, मंगल पंचम स्थान हाेने के कारण मानसिक तनाव एवं परेशानियाें में कमी हाेगी। घरेलु एवं व्यवसायिक क्षेत्र में विघ्न बाधाआें व अड़चनाें के बाद गुजारे याेग्य आय के साधन बनेंगे। खर्च अधिक रहेंगे। इस राशि की स्त्रियाें काे अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान रखना हाेगा। सुंदरकांड का पाठ करना शुभ हाेगा।

अक्तूबर
मासारम्भ में केतु का संचार है तथा सूर्य-बुध आदि ग्रहाें की दृष्टि पड़ रही है जिससे इस मास मिश्रित फल प्राप्त हाेंगे। धन लाभ के साथ-साथ खर्च भी अत्यधिक रहेगा। घरेलू एवं व्यवसायिक उलझनाें के कारण परेशानियां बढ़ेंगी। 15 अक्तूबर के पश्चात् आकस्मिक धन लाभ हाेंगे, परन्तु मनाेरंजन एवं विलासादि कार्याें पर खर्च अधिक रहेंगे। देश विदेश में सम्पर्क सूत्र बढ़ेंगे। श्री दुर्गा सप्तशती का पाठ करना शुभ हाेगा।

नवम्बर
पूर्वार्द्ध भाग में विघ्न-बाधाआें के बावजूद निर्वाह याेग्य आय के साधन बनते रहेंगे। गृह में काेई मंगल कार्य हाेगा। कलह-क्लेश के कारण गृह में अशांति हाेगी। आलस्य में वृद्धि हाेगी। धन का व्यय भा अधिक हाे। श्रीदुर्गासप्तशती का पाठ करना शुभ हाेगा।

दिसम्बर
केतु का संचार व मंगल सप्तम दृष्टि हाेने से भागदाैड़ अधिक रहेगी। चिन्ताआें में वृृद्धि तथा फिजूल खर्ची बढ़ेगी। किसी निकट बन्धु से मनमुटाव पैदा हाेंगे। 16 दिसम्बर के बाद कुछ बिगड़े कामाें में सुधार हाेगा। धन लाभ व उन्नति के अवसर प्राप्त हाेंगे। पारिवारिक सुख में वृद्धि हाेगी। कहीं यात्रा का भी प्राेग्राम बनेगा।

Powered By Indic IME