जब विराट का नाम देख इस खूबसूरत महिला क्रिकेटर ने छोड़ दी थी उम्मीद

Posted on February 11 2015 by pits

नई दिल्ली: देश के चौथे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पद्मश्री की रेस में भारतीय महिला क्रिकेट टीम की कप्तान मिताली राज ने स्टार क्रिकेटर विराट कोहली को पछाड़कर यह सम्मान हासिल किया।

 

एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान मिताली ने कहा कि मेरा मुकाबला विराट कोहली से था इसलिए मैंने उम्मीद छोड़ दी थी। एक तो वो बेहतरीन फॉर्म में चल रहे थे और दूसरे पुरुष क्रिकेटरों के आगे कोई कहां हमें पूछता हैं। ऐसे में मिताली पद्मश्री हासिल करके बहुत खुश हैं। उन्होंने कहा, ‘‘जब मैंने क्रिकेट खेलना शुरू किया था। तब बहुत कम लड़कियां थी जो इस खेल में आना चाहती थीं लेकिन आज जमाना बदल गया है। मुझे गर्व है कि अब बहुत सी लड़कियां इस खेल में अपना कॅरियर बनाना चाहती हैं।’’

 

मिताली ने बताया कि  वह डांसर बनना चाहती थी। उन्होंने कई साल भरत नाट्यम भी सीखा है। लेकिन माता पिता की चाहत थी कि वह एक क्रिकेटर बनें। आपको बता दें कि मिताली ने वर्ष 1999 में क्रिकेट में पदार्पण किया था जिसके बाद उन्होंने इस खेल में नए कीॢतमान रचे। विश्व महिला क्रिकेटर रैंकिंग में टॉप पर काबिज मिताली ने 153 एकदिवासीय मैचों में 4888 रन बनाए हैं और 10 टेस्ट मैंचों में एक दोहरा शतक भी जड़ा है। जोधपुर में पैदा हुई मिताली ने कहा कि आज महिला क्रिकेट सामान्य सी बात हो गई है और नई लड़कियां क्रिकेट में अपनी रूचि दिखा रही हैं।

Powered By Indic IME