प्रधानमंत्री ने की स्मार्ट सिटी बनाने की मुहीम तेज

Posted on January 12 2015 by pits

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्मार्ट शहरों के लिए मानकों तथा अन्य संबंधित मुद्दों पर विचार विमर्श करने के लिए शीघ्र केंद्र और राज्यों के शहरी विकास विभाग के अधिकारियों की बैठक बुलाने को कहा है. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री ने स्मार्ट शहरों के संबंध में विस्तृत विचार विमर्श की कड़ी में एक उच्चस्तरीय बैठक की अध्यक्षता की. उन्होंने शहरी विकास मंत्रालय को जल्दी से जल्दी सभी केंद्रीय और शहरी विकास निकायों की कार्यशाला आयोजित करने का निर्देश दिया है.

प्रधानमंत्री का कहना है कि स्मार्ट शहर संबंधी पहल का एक उद्देश्य शहरी प्रशासन को बेहतर बनाना है ताकि देश की पूरी शासन प्रक्रिया को मजबूत किया जा सके. इस संबंध में मोदी ने कहा कि कार्यशाला में शहरी विकास से संबंधित कानूनों में सुधार पर भी ध्यान दिया जाना चाहिए. उन्होंने अधिकारियों को स्मार्ट शहरों के लिए मानक चिह्नित करने को कहा. उन्होंने यह भी कहा कि 21वीं सदी के शहरों के लिए जरूरी ढांचागत सुविधाएं, रहन सहन की बेहतर सुविधाएं तथा जन आधारित सेवाओं की बुनियादी बातों की पहचान की जानी चाहिए. उनके अनुसार शहरों को आर्थिक गतिविधियों के केंद्र के रूप में चिह्नित किया जाना चाहिए. उनका कहना था कि स्मार्ट शहरों के विकास में कूड़ा प्रबंधन तथा दूषित जल शोधन पर ध्यान देना जरूरी है.

बता दें कि मोदी ने कहा कि इन शहरों के लिए योजनाएं बनाते समय शहरी आबादी के अलावा शहरों पर आधारित आबादी को भी ध्यान में रखा जाना चाहिए. उल्लेखनीय है कि बैठक में प्रधानमंत्री कार्यालय, शहरी विकास मंत्रालय तथा सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अधिकारी मौजूद थे. केंद्र सरकार का लक्ष्य देशभर में 100 स्मार्ट शहर विकसित करने का है, इसके लिए चालू वित्त वर्ष के बजट में 7060 करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है.

Powered By Indic IME