मोदी न करे प्रचार इसलिए पाकिस्तान कर रहा है वार?

Posted on October 13 2014 by pits

मुंबई (दीप झंवर): महाराष्ट्र में जब से चारो पार्टियों के बीच गठबंधन टूटा है तब से महाराष्ट्र की राजनिति में कई परिवर्तन आ रहे हैं और इन पार्टियों के अलग होने से चुनावों का नतीजा क्या आएगा इसका अनुमान अभी लगाना भी कठिन हो रहा है.

गौरतलब है कि हाल ही में अलग अलग टीवी चैनलों द्वारा किए गए ओपिनियन पोलों में भाजपा को 105 सीटों पर कब्ज़ा जमाते हुए देखा जा सकता है. यदि हम इन ओपिनियन पोलों पर विश्वास रखते हैं तो भाजपा और नरेंद्र मोदी का महाराष्ट्र के चुनाव पर गहरा प्रभाव पड़ने के आसार नज़र आ रहे हैं. अगर हम इन आकड़ों पर गौर करें तो पाते हैं कि भाजपा महाराष्ट्र की राजनिति में सबसे अहम और मजबूत पार्टी बनके उभर सकती है. मोदी के बढ़ते प्रभाव को देखकर पाकिस्तान में भी खलबली मची हुई है. बाला साहेब ठाकरे के बाद नरेंद्र मोदी ही ऐसी शख्सियत है जो पाकिस्तानी सेना और उनके नेताओं के मन में भय पैदा करने में कामयाब हुए हैं. इसलिए पाकिस्तान नरेंद्र मोदी का जितना विरोध करेगा उतनी उनकी लोकप्रियता बढ़ती जाएगी. पाकिस्तान पहले भी कई बार सीज फायरिंग कर नियमों का उल्लंघन कर चूका है लेकिन अब वह अपनी सारी मर्यादा लांघ रहा है और सिविल एरिया में भी अटैक कर रहा है. भारतीय सीमा के अंदर आतंकियों को प्रवेश दिलाने के लिए पाक का कई महीनों में किया गया यह सबसे बड़ा वार है. इसके साथ ही पाक द्वारा किए जा रहे इन हमलों को राजनीति से भी जोड़कर देखा जा रहा है. दिन ब दिन नरेंद्र मोदी का कद देश में बढ़ रहा है यह बात पाकिस्तान को रास नहीं आ रही है इसलिए शायद वह ऐसे हमले कर नरेंद्र मोदी को रोकना चाहते हैं?

बता दें की इन हमलों के कारण देश की राजनीति पर भी प्रभाव पड़ सकता है. इस तरह से हमले कर पाकिस्तान चाहता है कि भारत सरकार और प्रधानमंत्री पाकिस्तान पर बात करने पर मजबूर हों. इसका असर चुनाव के नतीजों पर भी हो सकता है. भारत का हर नागरिक चाहता है कि देश की सारी पार्टियाँ एकजुट होकर देश के समर्थन में खड़े रहे. यदि सभी पार्टियां और उनके बड़े नेता एकजुट हो जाए तो पाकिस्तान को एक करार जवाब मिल सकता है.

Powered By Indic IME