Exclusive Interview

Posted on September 15 2014 by pits

श्री.एकनाथ खडसे (विरोधी पक्ष नेता, भाजपा) महाराष्ट्र राज्य

मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण पिछले दरवाजे से भ्रष्टाचारियों को आशीर्वाद देते हैं….

एकनाथ खडसे एक सक्षम विरोधी पक्ष नेता हैं उन्होंने अपने कार्यकाल में महाराष्ट्र में कई योजनाओं को लाया है तथा कुछ योजनाएं प्रगतिपथ पर है. सत्ता पक्ष में बैठे कांग्रेस-राष्ट्रवादी कांग्रेस के 116 घोटालों को उन्होंने जनता के सामने लाया है और यह घोटाले कई करोड़ों के हैं जिसके चलते आज महाराष्ट्र की गति रुक गई है. ऐसे कई सवालों से साथ हमारे सहा.संपादक चंदन पवार ने उनसे बात की.

आपने अपने राजनैतिक जीवन में उत्तर महाराष्ट्र के लिए ऐसी कौन सी बड़ी योजना को लाया है जिससे जनता का विकास हुआ है?

जब महराष्ट्र में हमारी युती सरकार थी तब हमने बहुत से सिंचाई की योजनाएं लाया है. 25 साल हो गए हैं मुझे एक एमएलए के रूप में काम करते हुए, सरकार में भी मैं 5 साल रहा और विरोधी पक्ष के नेता के रूप में भी 5 साल रहा और काम कर रहा हूं. मैंने उत्तर महाराष्ट्र के सभी क्षेत्रों का विकास हो इसलिए विधानसभा में लगातार कोशिश की है, कई प्रश्न मैंने उठाए है, चर्चाओं में लगातार भाग लिया है जिससे हमारे क्षेत्र में तीन चार बड़ी उपलब्धिया प्राप्त हुई है. इन सबमें सबसे बड़ी उपलब्धि है कि तापी सिंचन विकास महामंडल की स्थापना मैंने की है और उसके तहत 7 हजार करोड़ रूपये के प्रोजेक्ट को मंजूरी मिली है. उन 7 हजार करोड़ रूपयों में से अब तक 4 हजार करोड़ रूपये खर्च हो चुके हैं और काफी काम हुआ है, इसकी वजह से कई क्षेत्रों में पानी पहुंचा है लेकिन पैसा पूरा न मिलने के कारण कई प्रोजेक्ट रुके हुए हैं लेकिन हम रुक हुए कामों को भी अंजाम देंगे. दूसरी उपलब्धि ये हुई है कि उत्तरी महाराष्ट्र में जितने भी तहसील हैं उसमें जितने भी 10वीं और 12वीं के जो बच्चे फेल हो गए हैं उनके लिए व्हेकेशनल क्लासेस का इन्तेजाम किया है जिनसे उनकी कुशलता को निखारा जा सके तथा उन्हें टेक्नीकल जानकारी हो इसलिए आईटीआई की स्थापना भी पूरे तहसील में की है. नंदुरबार की निर्मिती हमारे कार्यकाल में हुई है और जो भी बड़े ब्रिज हैं जिनकी लागत करोड़ों में हैं उनकी निर्मिती भी हमारे कार्यकाल में हुई है. हमारा टूरिज्म पे भी कई प्रोजेक्ट है जिसपर काम हुआ है.

आपके कार्यकाल में कौन सा बड़ा गलत निर्णय लेने के लिए आपने सत्ता पक्ष को रोका है?

कई ऐसे निर्णय है जिन्हें हमने रुकवाया है और जिससे सरकार का पैसा भी बचा है जैसे पुणे के जमीन के विषयों पर मैं लड़ा था और उससे संबंधित निर्णय सरकार को बदलना पड़ा था. मुंबई से जुड़े हुए भी कई निर्णय थे जिन्हें हमने विधानसभा में जोर शोर से उठाया था और सरकार को अपने फैसले बदलने पड़े थे.

सत्ता पक्ष में या विरोधी पक्ष में बैठना कौन सा काम सरल है?

जनता चुनती है आपको काम करने के लिए. वह अगर आपको अपोजिशन के लिए चुनती है तो आप वह काम ईमानदारी से करें जब सत्ता में बिठाएगी तो वह काम पूरे मन से करो.

आनेवाले विधानसभा चुनाव में मोदी का जादू चलेगा या महाराष्ट्र की भाजपा पार्टी सक्षम है लोगों को अपनी ओर खींचने के लिए?

हां मोदी का जादू चलने ही वाला है. 100 दिनों में मोदी सरकार ने जनता के हित में कई निर्णय लिए हैं. अभी 100 दिन के अंदर मोदी सरकार में ऐसे कई पॉलिसी अपनाई है जिससे सार्क देशों से अच्छे रिश्ते बन सकते हैं. मोदी जी ने शांति बनाए रखने के लिए अच्छी कोशिश की है साथ ही कानून व्यवस्था को भी अच्छा बनाया है. महंगाई कम करने के लिए भी उन्होंने कुछ कदम उठाये हैं. अभी आगे भी वह जो काम करेंगे उसके परिणाम लोग देखेंगे. किसानों को राहत मिलनी चाहिए इसके लिए भी मोदी जी ने काफी सराहनीय कदम उठा रहे हैं. मोदी जी का प्रभाव और साथ में आघाडी सरकार ने लोगों का जो नुकसान किया और उनको दुःख दिया ये सब की वजह से हम महाराष्ट्र में बहुत अच्छी जीत दर्ज करनेवाले हैं.

आपको लगता है मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण एक अच्छे सीएम बनकर उभरे हैं?

कुछ लोग पृथ्वीराज चव्हाण को क्लीन सीएम बोलते हैं लेकिन पृथ्वीराज चव्हाण के आसपास जो हैं वो सबसे बड़े भ्रष्टाचारी हैं. इस सरकार में 116 घोटाले हुए हैं, कई प्रोजेक्ट में भ्रष्ट्राचार हुआ है. जो भ्रष्ट्राचार को संरक्षण देता है वह भी भ्रष्टाचारी होता है. पृथ्वीराज चव्हाण भी इससे अलग नहीं हो सकते हैं इसलिए ये लोग खुले आम खाते हैं और पृथ्वीराजजी पिछले दरवाजे से उनको आशीर्वाद देते हैं.

लेकिन विरोधी पक्ष नेता की भूमिका भी मजबूत दिखाई नहीं देती है?

भ्रष्टाचार के बारे में मैंने कई बार पृथ्वीराज चव्हाण को असेम्बली में बताया है. मैंने दस बार उन्हें ये बात बताई है कि आप भ्रष्टाचारियों का साथ देते हैं तो आप भी भ्रष्टाचारी ही हो. लेकिन पृथ्वीराज चव्हाण का ऐसा है कि उन्होंने एक बात उन्होंने थान ली है कि उन्हें बोलना नहीं है. हमारे यहाँ कहा जाता है ‘निर्लज्जम सदा सुखी’ वही बात है यहाँ पर. जब शरद पवार जैसे उनके साथी पृथ्वीराज चव्हाण को बोलते है कि क्या आपके हाथों में लकवा मार गया है तो हमारी बात ही नहीं है. वह कैबिनेट में निर्णय नहीं ले सकते. अब इलेक्शन आ रहा है तो वह दिन में 10 निर्णय ले रहे हैं. पृथ्वीराज चव्हाण सिर्फ बाहर से क्लीन दिखते हैं अंदर से क्या हैं वह जनता भी देख रही है. पृथ्वीराज चव्हाण को हिम्मत करनी चाहिए कि वह घोटालों की कौन सी फ़ाइल है जिसपर वह सैन नहीं करना चाहते. जनता जानना चाहती है. मगर वह बोलते ही नहीं है मतलब वह भी अंदर से इनका साथ देते हैं.

 

 

अगर महाराष्ट्र में भाजपा की भारी संख्या में जीत होती है तो क्या आप मुख्यमंत्री बनना चाहेंगे?

देखिए ये पार्टी का निर्णय होता है. इच्छा का सवाल हमारे यहाँ है ही नहीं. मैं पिछले 40 सालों से भाजपा के लिए काम कर रहा हूं आजतक पार्टी ने जो कुछ भी दिया है वह बिना मांगे ही दिया है और हमारा पहला मकसद यही होगा कि महाराष्ट्र में महायुती की सरकार आए और अगर सरकार आती है तो मुख्यमंत्री हमारा रहेगा.

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बताया कि आनेवाले विधानसभा चुनावों के लिए देवेन्द्र फडवणीस मुख्य रहेंगे, इस पर आप क्या कहना चाहेंगे?

बिलकुल रहना चाहिए. हर पार्टी का यही सिस्टम होता है कि जो पार्टी का प्रमुख रहता है वही मुखिया होता है. देवेन्द्र जी अध्यक्ष हैं और वही प्रमुख रहनेवाले हैं.

फिर से सत्ता में आने के लिए आप कांग्रेस-राष्ट्रवादी को कैसे रोकेंगे?

हमें रोकने की जरूरत ही नहीं है. महाराष्ट्र की जनता ने ही ठान लिया है कि महाराष्ट्र में आघाडी सरकार को हटा कर ही रहेंगे. अजित पवार का जो व्यवहार रहा है उन्होंने जनता का जो छल किया है तो जनता ने ही तय किया है कि इन्हें सत्ता से दूर रखेंगे और भाजपा-शिवसेना की महायुती को सत्ता में लायेंगे. मोदी जी ने कहा है कि सबको साथ लेकर चलना है, सबका विकास करना है, यही हमारा नारा है और ध्येय रहेगा. हम सभी भ्रष्टाचारी को जेल में डालकर रहेंगे किसी को नहीं छोड़ेंगे.

एसआरए के स्कीम में लोगों को घर मिलने में बहुत मुश्किल हो रही है इस पर आप क्या करेंगे?

जब निर्णय होता है तो उसे अमल में लाने में कुछ समय तो लगता है. हमारा यह कहना है कि पहले 2000 का जो निर्णय हुआ है उसमें कितने लोगों को घर नहीं मिला है. पहले उनका हक़ मिले. हम योजनाबद्ध तरीके से विकास करना चाहते हैं. मोदी जी का वादा है कि जो बेघर हैं जिनके पास घर नहीं है उन्हें 2022 तक घर बनाने के लिए हम पूरे तरीके से कटिबद्ध रहेंगे.

 

आनेवाले चुनाओं के लिए आप महाराष्ट्र की जनता को क्या संदेश देना चाहेंगे?

महाराष्ट्र की जनता को हम यही कहना चाहेंगे कि आपने जितना भ्रष्टचार आघाडी सरकार देखा है. मैंने इतने सालों में नहीं देखा. छोटे कार्यकर्ता से लेकर मैं यहाँ तक पहुंचा हूं, कभी सत्ता में रहा, कभी सत्ता के बाहर रहा, इतनी भ्रष्ट सरकार और इतनी भ्रष्ट नीति आजतक का इतिहास रहा है. इसलिए मैं चाहता हूं हर क्षेत्र का विकास हो, हर आदमी का विकास हो, सबका विकास हो इसलिए महराष्ट्र में परिवर्तन लाना चाहिए और यह परिवर्तन केवल महायुती ही कर सकती है. इसलिए आगामी चुनाओं में महायुती को ही आप विजयी करें यही मेरा महाराष्ट्र की जनता से कहना है.

Powered By Indic IME