नित्यानंद पौरुष परीक्षण से घबराए

Posted on August 25 2014 by pits

नई दिल्ली: उच्चतम न्यायालय ने 2010 के बलात्कार मामले के आरोपी स्वयंभू तांत्रिक नित्यानंद की अपील पर फैसला सुरक्षित रख लिया है. नित्यानंद ने उनके मर्दानगी परीक्षण कराने के कर्नाटक उच्च न्यायालय के फैसले को शीर्ष अदालत में चुनौती दी है. गौरतलब है कि न्यामूर्ति रंजना प्रकाश देसाई की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने सभी सम्बद्ध पक्षों की दलीलें सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रखा है.

बता दें कि रंजना प्रकाश देसाई की अध्यक्षता वाली बेंच ने नित्यानंद की अपील पर सुनवाई के दौरान इस तरह के परीक्षण कराने के प्रति नित्यानंद की आनाकानी पर सवाल उठाते हुए कहा था कि देश में बलात्कार के मामलों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर ऐसा परीक्षण जरूरी है. शीर्ष अदालत ने गत पांच अगस्त को मर्दानगी परीक्षण संबंधी उच्च न्यायालय के आदेश पर रोक लगा दी थी.

उल्लेखनीय है कि नित्यानंद उस वक्त सुखियों में आए थे जब वह दक्षिण भारत के एक टीवी चैनल ने एक एक्सक्लूसिव सेक्स वीडियो जारी किया जिसमें एक साधु जैसे दिखनेवाले व्य‌क्ति को दो महिलाओं के साथ आपत्तिजनक अवस्‍था में दिखाया गया.

Powered By Indic IME