अब बाजार में भी उपलब्ध होगा जैविक आम

Posted on August 25 2014 by pits

नई दिल्ली: जहरीले रासायनिक कीटनाशकों के छिड़काव के बाद तैयार हुए आम की जगह अब लोग हवन, भस्म और जैविक तरीके से तैयार आम का स्वाद ले सकेंगे जो देखने में न केवल आकर्षक होगा बल्कि उसका स्वाद भी अनूठा होगा.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के हसनगंज गांव के कुछ किसानों ने जैविक आम का उत्पादन शुरू करने का दावा किया है जो न केवल अपने बाग को कीड़ों के प्रकोप से बचाने के लिए वहां प्रतिदिन हवन करते हैं बल्कि इसके लिए जैविक कीटनाशक भी तैयार करते हैं. ये किसान हवन से निकली भस्म का उपयोग आम के मंजर को सुरक्षित बचाने के लिए करते हैं.

हसनगंज गांव में जैविक विधि से आम का उत्पादन करने वाले किसानों की संख्या काफी कम है लेकिन उनका दावा है कि इस विधि से न केवल आम का उत्पादन बढ़ा है बल्कि बार-बार रासायनिक कीटनाशकों के छिड़काव के कारण आम के पेड़ सूखने की बीमारी से भी उन्होंने निजात पा लिया है. ये किसान दशहरी, चौसा, लंगडा, फजली तथा कुछ देसी किस्म के आमों का उत्पादन करते हैं.

Powered By Indic IME