सप्ताह की खास मुलाकात – श्री. विजयपांढरे

Posted on February 24 2014 by yogesh

भ्रष्टाचार को उजागर करके व्यवस्था परिवर्तन करना चाहता हूं और नाशिक के लोगों को जीने का मकसद देना चाहता हूं

विजय पांढरे मेरी में चीफ इंजीनियर के पद पर काम कर रहे थे उन्होंने अपना काम करते हुए यह पाया कि सभी जगह बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार चल रहा है. उनसे यह भ्रष्टाचार देखा नहीं गया, वह जिस जिले में जाते वहां के अपने डिपार्टमेंट में भ्रष्टाचार को पाते थे बस इसी भ्रष्ट व्यवस्था को उजागर करने का उन्होंने ठान लिया और 35 हजार करोड़ का डॅम घोटाला महाराष्ट्र के जनता के सामने रख दिया. ऐसे ईमानदार और कर्तव्यनिष्ठ व्यक्ति से हमारे सहा.संपादक चंदन पवार ने कुछ प्रश्नों पर उनसे जवाब तलब किया.

आपमेरी में मुख्य अभियंता पद पर कार्यरत थे, कैसा अनुभव महसूस किया जब आप काम कर रहे थे?’

मैंने अपनी पूरी नोकरी के काल में जहां भी गया वहांभ्रष्टाचार पाया और भ्रष्टाचार करनेवाला एक आदमी नहीं था पूरा का पूरा सिस्टम ही इसमें लिप्त पाया जाता था. मैंने अपनी पूरी जिंदगी में ईमानदारी से काम किया. जब मुझे अपने विभाग में चल रहे भ्रष्टाचार का पता चला तो मुझसे रहा नहीं गया फिर मैंने अपने मन में ठान लिया अब मैं इसे बर्दाश्त नहीं करूंगा. मैंने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को इस भ्रष्टाचार के बारे में बताया तो उन्होंने मुझे ही सलाह दे डाली कि आप इस मैटर में ना पड़े तो यह आपके लिए अच्छा रहेगा. यह सुनकर मैं सुन्न रह गया.

आपने जलसंपदा विभाग में चल रहे 35 हजार करोड़ रूपयों के भ्रष्टाचार को सामने लाकर महाराष्ट्र की राजनीति में भुकंप मचा दिया, क्या कहेंगे इस विषय में?

35 हजार करोड़ का यह जल संपदा विभाग में जो भ्रष्टाचार हुआ है इसको बाहर लाने के लिए मुझे कड़ी मेहनत करनी पड़ी क्योंकि जब आप किसी अनीती से लड़ने के लिए तैयार हो जाते हैं तब आपके सामने कई दिग्गज राजनेता और भ्रष्ट अधिकारी खड़े हो जाते हैं परंतु सच्चा इंसान वही होता है जो बिना डर के सच्चाई को लोगों के सामने लाए. परंतु यह सब करने के बावजूद आज भी वही लोग बड़े शान से अपने पद पर बने हुए हैं और जनता को मुर्ख बना रहे हैं. लेकिन आम आदमी जाग गया है इसलिए वह भ्रष्ट राजनेताओं को अपनी कुर्सी के नीचे खींचने के लिए तैयार है.

आपको आम आदमी पार्टी की तरफ से लोकसभा उम्मीदवार बनाया गया है तो क्या आप जलसंपदा विभाग के भ्रष्टाचार को मुद्दा बनाएंगे?

मैं अरविंद केजरीवाल, योगेंद्र यादव और उनकी टीम का आभारी हूं. उन्होंने मुझपर जो विश्वास दिखाया है मैं उसे सार्थ बनाके रहूंगा. जलसंपदा विभाग के भ्रष्टाचार को मैं जरूर मुद्दा बनाऊंगा इतना ही नहीं जिस तरह सिस्टम ऊपर से लेकर नीचे तक भ्रष्टाचार में लिप्त है इसकी भी जानकारी मैं अपने नाशिक और महाराष्ट्र की जनता को दूंगा. नाशिक के विकास के बारे में बहुत सारी बाते हैं जो मैं बोलकर नहीं बल्कि करके दिखानेवाला हूं.

नाशिकमें आज भी राजनीति विकास के मुद्दे पर नहीं बल्कि एक दूसरे को कम आंकने में की जाती है, आप ऐसी राजनीति को कैसे सुधारेंगे?

जीहां. आपने सही कहा आज नाशिक में ही नहीं बल्कि पूरे देश में राजनीति विकास के मुद्दे पर नहीं लड़ी जाती. कोई भी नेता इस बात पर एक दूसरे से नहीं लड़ता कि मैने 10 करोड़ का काम कर दिया है. तुमने कितने करोड़ का काम किया? बस इसका उल्टा हो रहा है. जात, पात, धर्म की राजनीति चल रही है. यह मेरे समाज का है यह उसके समाज का है. मेरे समाज में से मेरे वोट फिक्स है. मतलब यह नेता लोगों को अपनी दुकानदारी का खिलौना समझते हैं. लोगों से भी मेरी विनंती है कि आप विकास को मत दें सच्चे ईमानदार आदमी को वोट दें. यह आपके बच्चे के भविष्य से जुड़ा प्रश्न है.यह सब समझने का प्रयास करूंगा.

नाशिककेराष्ट्रवादीसासंद इनके कामों से आप एक नागरिक के हिसाब से खुश हैं?

बिल्कुल भी नहीं. आज पूरे नाशिक में काम ना के बराबर है. ट्रैफिककी समस्या, ड्रेनेज लाईन्स, आरोग्य, बेरोजगारी और नाशिक के उद्योग ठप्प पड़ गए हैं क्योंकि यहां पर उद्योग लगाने के लिए या चलाने के लिए उद्योगपतियों से पर्सेंटेज की बात की जाती है. मतलब यहां के युवाओं को और कई छोटी-मोटी फैक्टरी को रोजगार मिलेगा इसका बिल्कुल सोचा नहीं जा रहा है. सब पैसे का खेल चल रहा है.

नाशिकमहानगरपालिका जबसे मनसे के पास आई है, क्या आपको लगता है यहां पर विकास हुआ है?

मुझे कहीं भी विकास का काम हुआ है यह दिख नहीं रहा है. बस अपनी रोजी रोटी कैसे चलेगी, कम समय में कितना पैसा जेब में आएगा यही काम नाशिक महानगरपालिका में हो रहा है. विकास वह होता है जिसे लोग अपने मुंह से कहे कि विकास हुआ है. आज आप नाशिक के कोई भी क्षेत्र में चले जाओ यहां विकास हुआ है ऐसा कोई भी आम आदमी नहीं कहेगा.

अरविंदकेजरीवाल ने मुख्यमंत्री पद का इस्तीफा देकर लोगों के साथ धोखा किया है, इस पर आप क्या टिप्पणी करना चाहेंगे?

मैंइसबात को नहीं मानता क्योंकि जनलोकपाल पास नहीं होगा तो मैं इस्तीफा दे दुंगा यह पहले से ही केजरीवाल ने कहा था. उन्होंने लोगों के हित के लिए काम करना चाहा परंतु कांग्रेस और भाजपा ने जनलोकपाल पर दोस्ती कर ली और जनलोकपाल पेश नहीं होने दिया. हम अगर आम आदमी के कामों के लिए लड़ रहे हैं तो वह होने चाहिए अगर नहीं होते तो हमारी नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि हमें उस पद पर बने रहने का कोई हक नहीं है और मुझे आप बताईए आज तकदेश के कितने मुख्यमंत्रियों ने काम ना होने के तर्ज पर इस्तीफे दिए हैं? कोई ऐसा करके दिखाए तो मान जाए.

 

भविष्यमें अगर आप नाशिक से लोकसभा का चुनाव जीत जाते हैं तो क्या आप जल संपदा विभाग के भ्रष्टाचार को संसद में उठाएंगे?

बिल्कुल उठाएंगे यही मुद्दा नहीं बल्कि यहां के उद्योग से जुड़े युवाओं के रोजगार, गरीब झुग्गी झोपड़ियों में रहनेवालों के आवास और ऐसे कई समस्या है जिनको मैं उठाउंगा. अगर आपके पास काम करने की इच्छाशक्ति है तो आपको कोई काम मुश्किल नहीं लगता है. एक काम में 60% भ्रष्टाचार करके पैसा कैसे अपने जेब में किया जाता है यह मैने खुद देखा है. बाकी तो कई काम सिर्फ कागज पर दिखाकर पूरा का पूरा पैसा गायब हो जाता है.

महाराष्ट्र में ऐसा कौन सा व्यक्ति है जिसे आम आदमी पार्टी में आना चाहिए?

महाराष्ट्रमेंकईऐसे समाजसेवक और ईमानदार अधिकारी है जिन्हें अगरलगता है कि इस भ्रष्ट व्यवस्था को खत्म करके समाज में परिवर्तन लाना है वह सभी इस पार्टी में आ सकते हैं. यह उनका अपना फैसला है और आपके माध्यम से लोगों को यह भी कहना चाहता हूं कि चुनाव में वोट डालने के लिए कोई भी पैसा ना ले क्योंकि इन्होंने दिया हुआ पैसा आपके कितने दिन काम आएगा. अगर आप पैसा लेते हैं तो फिर पांच साल विकास भूल जाईए. आप कौन से चेहरे के साथ उस व्यक्ति से विकास की मांग करेंगे. इसलिए भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए हम सबको एक साथ, एक आवाज में खड़ा रहना पड़ेगा.

आमआदमीपार्टी को नाशिक डिस्ट्रिक्ट में बढ़ाने के लिए आप कौन से कदम उठा रहे हैं?

हम कई गांवो तथा शहरों में जाकर अच्छे ईमानदार और जो इस भ्रष्ट व्यवस्था से ऊब गए हैं उनको हम दरख्वास्त कर रहे हैं कि देश की दूसरी लड़ाई में हमारा साथ दें परिवर्तन करना ही हमारा मकसद है. आज जो सत्ता में हैं उनके पास पहले क्या था और आज क्या है? जरा इस पर सोचें, हम सबको साथ लेकर चलना चाहते हैं इसलिए छोटे-छोटे गांव में हम कमिटियां स्थापन करके जिम्मेदारी सौंपना चाहते हैं. धन्यवाद.

Powered By Indic IME