समय का सही प्रयोग करना सीखें

Posted on January 27 2014 by yogesh

समय पर काम निपटाने की टेंशन हर महिला को रहती है और इस चक्कर में वह कामों के घेरे में कुछ इस तरह उलझती है कि दिन बीतते-बीतते उसके कई काम अधूरे रह जाते हैं. ऐसे में उसे इस बात की फिक्र सताने लगती है कि कल का दिन और ज्यादा व्यस्त होने वाला है. ऐसे में वह हर दिन काम की उलझनों को सुलझा ही नहीं पाती. वहीं दूसरी ओर कुछ महिलाएं अपना काम समय पर निपटा लेती हैं, जबकि उनके पास हाथ बंटाने वाला भी कोई नहीं होता?इसके पीछे कारण है समय का सही उपयोग.

गौरतलब है कि अगर आपके साथ भी ऐसा ही होता है या आपके पास भी समय की कमी है और आपको हमेशा किसी काम के न हो पाने की चिंतारहती है, तो इससे एक बात तो साफ है कि आप में टाइम मैनेजमैंट की कमी है. इस उलझन से बचने के लिए आपको सिर्फ कुछ बातों को ध्यान में रखना है और अपनी जिंदगी में शामिल करना है कि जिन कामों को समय रहते नहीं कर पातीं या वक्त की कमी की वजह से नहीं कर पाती थीं, उन्हें सही समय पर कैसे किया जाए.

सबसे पहले प्राथमिकताएं तय करें : प्राथमिकताएं तभी तय होती हैं जब आपके लक्ष्य निर्धारित होते हैं, सुबह के समय वे काम पहले करें, जो सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हों, जैसे- ब्रेकफास्ट और लंच तैयार करना, बच्चों को तैयार करके स्कूल भेजना आदि. अगर आप दफ्तर में काम करती हैं, तो ऑफिस में जाकर पहले कौन-से काम करने हैं और कौन-से बाद में उसकी प्लानिंग करके सब तय कर सकती हैं.

कामों की लिस्ट बनाएं :अधूरे कामों की एक लिस्ट तैयार करें क्योंकि बिना लिस्ट के आपका दिमाग यही सोचने में इधर-उधर भटकता रहेगा कि आपको दिन में कौन-कौन से काम करने हैं. लिस्ट बनी होने से चीजें कंट्रोल में रहती हैं. इससे जहां काम निपटाने की चिंता से भी छुटकारा मिलता है, वहीं काम पूरा हो जाने पर आपको जो खुशी मिलेगी, वह सारा तनाव और थकान दूर कर देगी.

एक समय पर कई कामों को निपटाएं : एक साथ दो काम निपटाने की आदत डालें, मसलन मशीन में कपड़े धोने को डालें तो बर्तन साफ कर लें या सब्जी इत्यादि को छौंक लगा लें. टी.वी. देख रही हैं, तो धुले कपड़ों को प्रेस कर लें या सब्जी इत्यादि काट लें. उस समय आप दालों तथा चावल इत्यादि को भी बीन कर रख सकती हैं, ताकि बनाने से पहले आपको अपना समय उसमें वेस्ट न करना पड़े. इसी प्रकार आप उस समय डस्टिंग भी कर सकती हैं. दिन भर का मेन्यू भी आप उस समय तय कर सकती हैं.

समय को व्यर्थ ना करें : सबसे पहले एक जैसे कामों को एक साथ करें, आप जब भी फोन पर बात करें तो आराम से न करें बल्कि उस समय को बचाते हुए घर के सामान को समेट लें और मेज पर पड़े बर्तनों को किचन में रख दें. फिर उसके बाद उस मेज की कपड़े से सफाई कर दें. इसी प्रकार न्यूज पेपर इत्यादि को उठा कर निर्धारित जगह पर रखें,सोफा कवर एवं बैडशीट इत्यादि सही कर दें.

बाजार के काम एक साथ निपटाएं : बाजार जाना है तो लिस्ट बना कर जाएं, ताकि आपको एक ही चक्कर में सारा सामान मिल जाए, नहीं तो सामान याद आने पर आपको दोबारा जाना पड़ेगा, जिससे समय की बर्बादी तो होगी ही, साथ ही थकान होने से आप घर का काम भी समय पर नहीं निपटा पाएंगी.

दिन करें निर्धारित : सप्ताह में एक बार पूरे घर की सफाई करती हैं, तो इसकी अपेक्षा सप्ताह के दिन तय कर लें कि रूटीन का काम निपटाने के बाद आपको आज किचन, अल्मारी, लिविंग रूम, स्टडी या बगीचे में एक्स्ट्रा टाइम देना है. आधा घंटा या एक घंटा एक्स्ट्रा लगा कर आप सारे काम को एक साथ निपटाने की अपेक्षा पूरा सप्ताह थोड़ा-थोड़ा करके सफाई रख सकती हैं तथा इससे आपको थकावट भी कम होगी. भारी कामों में आप अपनी सफाई वाली की या परिवार के सदस्यों की भी मदद ले सकती हैं.

धूप सेंकते हुए खाली न बैठें : सर्दी के मौसम में धूप सेंकने बैठी हैं तो पड़ोसनों से गपशप करने की अपेक्षा लॉन या बालकनी की सफाई करने से लेकर कपड़ों की तह लगाने, दालों एवं मसालों को धूप लगवाने से लेकर निटिंग तक का काम कर सकती हैं, जिससे आप अपना काम का बोझ भी हल्का कर लेंगी और धूप भी सेंक लेंगी.

Powered By Indic IME