तेजपाल बना छेड़पाल….

Posted on November 25 2013 by yogesh

तेजपाल बना छेड़पाल….
तहलका मचाने वाले का मच गया तहलका

नई दिल्ली : तहलका पत्रिका के संपादक तरुण तेजपाल के द्वारा अपनी बेटी की आयु जितनी महिला पत्रकार का यौन शोषण करने का मामला सामने आने पर तरुण तेजपाल की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं. सूत्रों के अनुसार यौन शोषण मामला सामने आने पर गोवा पुलिस हरकत में आ गई है और उसने उस होटल की फुटेज मांगी है जहां ये वाकया पेश आया. वहीं तरुण तेजपाल के खिलाफ यौन उत्पीड़न मामले में समाचार पत्रिका की प्रबंधसंपादक शोमा चौधरी ने कहा है कि इस मामले में हमारी ओर से पीड़ित लड़की पर किसी भी तरह का कोई दबाव नहीं है और पुलिस में जाने या न जाने का फैसला करने के लिए वह स्वतंत्र है.

शोमा चौधरी ने अपने पिछले बयानों को लेकर पूछेगए सवालों के जवाब में यह भी कहा कि, ‘हमारी ओर से भी थोड़ी गलती हुई और हमें लग रहा था कि पीड़ित लड़की तरुण तेजपाल द्वारा माफी मांगे जाने से संतुष्ट है. उस समय तक हमें सिर्फ कहानी का तरुण वाला पहलू ही मालूम था.’ शोमा के अनुसार प्रकाशक उर्वशी बुटालिया की अध्यक्षता में शिकायत समिति मामले की जांच करेगी.

गौरतलब है कि शोमा ने एक बयान में कहा कि तरुण तेजपाल को 20 नवंबर को तहलका के संपादक पद से हटाने की स्वीकृति के बाद तहलका ने अब एक औपचारिक शिकायत समिति बनाई है, जो इस मामले में दिशा निर्देशों के अनुरूप मामले कीजांच करेगी. समिति की प्रमुख जानी-मानी महिला अधिकार कार्यकर्ता और प्रकाशक उर्वशी बुटालिया होंगी. शोमा ने यह भी कहा कि इसके अलावा तहलका महिलाओं के यौन उत्पीड़ऩ(रोकथाम, निषेध औरनिवारण) अधिनियम, 2013 की धारा 4 के अनुसार एक औपचारिक शिकायत समिति बनाएगी, जो तहलका में अभी तक नहीं है.

आपको बता दें कि गोवा के होटल में थिंक इंडिया फेस्ट के दौरान तेजपाल परमहिला पत्रकार ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है. वहीं इस मामले में सक्रीय होते होते हुए गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर परिकर ने कहा है कि यौन शोषण मामले पर तहलका पत्रिका के संपादक तरुण तेजपाल पर प्राथमिकी दर्ज होगी. वहीं दूसरी ओर राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी कार्रवाई की मांग की है.

उल्लेखनीय है कि मामला सामने आने पर तेजपाल ने तहलका की प्रबंध संपादक शोमा चौधरी कोलिखा कि मैंने संबंधित पत्रकार से अपने दुर्व्यवहार के लिए पहले ही बिनाशर्त माफी मांग ली है लेकिन मैं महसूस कर रहा हूं कि और प्रायश्चित की जरूरत है. इसलिए मैं तहलका के संपादक पद से और तहलका के दफ्तर से अगले छह महीने के लिए खुद को दूर करने की पेशकश कर रहा हूं.

दिल्ली पुलिस ने कहा कि वह तहलका के संपादक तरुण तेजपाल पर लगे यौन उत्पीड़ऩ़ के आरोपों की जांच के लिए आज यहां पहुंचे गोवा पुलिस के विशेष जांच दल को पूरा सहयोग देगी। दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने कहा कि गोवा पुलिस का दल सबसे पहले तहलका की प्रबंध संपादक शोमा चटर्जी से मिलकर उनका बयान दर्ज करेगा और पीड़िता का ईमेल प्राप्त करेगा जिसमें उसने तेजपाल के खिलाफ कथित यौन उत्पीड़ऩ़ की शिकायत की थी। उप अधीक्षक के नेतृत्व में अपराध शाखा दल तरण तेजपाल से पूछताछ करेगा और उनका बयान दर्ज करेगा। उन्हें इस मामले में गिरफ्तार किया जा सकता है। गोवा पुलिस ने तेजपाल के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376:बलात्कार:, 376:2::अपने रतबे का फायदा उठाते हुए किसी व्यक्ति द्वारा किसी महिला से बलात्कार: और 354:शील भंग करने : के तहत मामला दर्ज किया है।

तरूण तेजपाल के यौन शोषण के खिलाफ पीड़ित लड़की द्वारा तहलका की प्रबंधक संपादक शोमा चौधरी को लिखा गया पत्र

मेरे लिए तुम्हें यह ई-मेल लिखना बेहद तकलीफ देह है। जो बात मैं कहने जा रही हूं, उसे कैसे सरल ढंग से कहा जाए, यह सोचने में लगी हुई थी, लेकिन अब मुझे यही एक रास्ता समझ आ रहा है। पिछले सप्‍ताह तहलका के एडिटर इन चीफ तरुण तेजपाल ने ‘थिंक’ के दौरान दो बार मेरा यौन उत्पीड़न किया। जब उन्होंने पहली बार यह हरकत की, तो मैं तुम्हें फौरन फोन कर बताना चाहती थी, लेकिन तुम ‘थिंक’ के आयोजन में बुरी तरह से व्यस्त थीं। मुझे पता था कि उस वक्‍त एक मिनट के लिए भी यह मुमकिन नहीं था कि मैं अकेले में तुम्हें इस हरकत के बारे में बता पाती। इसके अलावा मैं इस बात को लेकर हैरान भी थी कि तरुण तेजपाल ने ऐसी घिनौनी हरकत की, जो मेरे पिता के साथ काम कर चुके हैं और उनके दोस्त हैं। वहीं तरुण की बेटी मेरी दोस्त है। मैं काम की वजह से तरुण की बहुत इज्‍जत करती रही हूं।

तरुण ने दो बार मेरा यौन शोषण किया। हर बार मैं बुरी तरह हताश और पस्त होकर अपने कमरे में लौटी और वहां कांपते हुए रोती रही। इसके बाद मैं अपने सहकर्मियों के कमरे में गई और एक वरिष्ठ सहकर्मी को फोन करके सारी बात बताई। जब दूसरी बार तरुण ने मेरा यौन उत्पीड़न किया तो मैंने उनकी बेटी को इस बारे में शिकायत की। जब उनकी बेटी ने तरुण से इस बाबत सवाल-जवाब किया तो वह मुझ पर चीखते हुए गुस्साने लगे। पूरे ‘थिंक’ फेस्टिवल के दौरान मैं तरुण से बचती रही। सिर्फ तभी उनके सामने आई, जब आसपास कई लोग मौजूद रहे। यह सिलसिला तब तक चला, जब तक यह फेस्ट खत्म नहीं हो गया।

शनिवार की शाम उन्होंने मुझे एक एसएमएस किया, जिसमें लिखा कि मैंने एक शराबी की दिल्लगी को गलत समझ लिया और उसका उलटा ही अर्थ निकाल लिया, लेकिन यह सच नहीं है। दिल्लगी के दौरान कोई किसी पर यौन हमला नहीं करता। मैं उनकी हरकत का हर ब्‍योरा आपको भेज रही हूं, ताकि आपको समझ आए कि मेरे लिए यह कितना तकलीफदेह रहा होगा। मैं चाहती हूं कि ‘विशाखा’ निर्देशों के मुताबिक, एक एंटी सेक्सुअल हैरेसमेंट सेल बनाया जाए और यही सेल इस मसले की जांच करे और आखिर में मैं तरुण तेजपाल से लिखित में माफी चाहती हूं। यह माफीनामा तहलका में काम करने वाले हर कर्मचारी से साझा किया जाना चाहिए। उन्होंने जिस तरह से एक महिला कर्मचारी के साथ बर्ताव किया, उसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।

Powered By Indic IME