तालिबान से नहीं, भूतों से लगता है डर – मलाला

Posted on October 26 2013 by yogesh

नई दिल्ली : बहादुरी और निर्भयता की प्रेरणा देनेवाली पाकिस्तान की मलाला यूसुफजई के हौसले आज भी बुलंद हैं. वह आज भी एक चट्टानकी तरह खड़ी हैं और तालिबानियोंको लोहे के चने चबाने पर मजबूर कर सकती हैं. गौरतलब है कि एक टीवी चैनल की पत्रकार से बात करतेहुए मलाला ने कहा है कि बेशक उसकी दुनिया बदल गई है, परंतु उसके इरादे और हौसले आज भी वैसे ही हैं. उन्होंने यह भी कहा कि उसे तालिबानियों से नहीं, भूतोंसे डर लगता है.

आपको बता दें कि मलाला के अनुसार कट्टरपंथी तालिबानी यह नहीं चाहते कि पाकिस्तान में लड़कियां स्कूल जाएं, क्योंकि वह डरते हैं. मलाला ने कहा कि, ‘उसका सपना पाकिस्तान की प्रधानमंत्री बनना है और तब वह ह रलड़की को स्कूल भेजेंगी.’

गौरतलब हैं कि गत वर्ष 9 अक्टूबर को तालिबान ने मलाला को इसलिए गोली मार दी थी कि क्योंकि मलालाने तालिबानियों का विरोध करते हुए स्कूल न जाने की बात से मना कर दिया था. इस हादसे के बाद ब्रिटेन के बर्मिंघम शहर के क्वीन एलिज़ाबेथ अस्पताल में मलाला का इलाज हुआ, जिसके बादसे अब मलाला ठीक हैं.

Powered By Indic IME