अध्यात्म के पीछे का अंधेरा

Posted on August 26 2013 by yogesh

आसाराम ने किया अपने नाम को मलिन???
लड़की के परिवार को दी धमकी “ मैंभगवान हूं, आपका परिवार भस्म कर दूंगा”

मुंबई(रजिया निसार): अध्यात्मगुरु आसाराम एक ऐसा नाम है जो देश और दुनियादोनोंमें काफी प्रसिद्ध है. हालांकि इस नाम से ऐसे कई संगीन मामले जुड़ चुके हैं जो अध्यात्म गुरूओं के नाम पर कालिख पोतते हैं, उन्हें शर्मसार करते हैंऔर लोगों का भरोसा उन पर सेउठाते हैं.अब आपको बता दें कि पिछले दिनों अध्यात्मगुरु असाराम के नाम से जो संगीन मामला जुड़ा वह काफी हैरान कर देनेवाला था. अध्यात्मगुरु आसाराम परएक नाबालिग ने बलात्कार करने का आरोप लगा है. यह खबर सुर्खियों में है कि इनके ही आश्रम मेंवह नाबालिग लड़की पढ़ती थी मगर आसाराम ने उस नाबालिग को अपनी हवस का शिकार बनाया?

आपको बता दें कि यह कोई पहला मामला नहीं है जिसने आसाराम परकीचड़उछाला है. इससे पहले भी कई बारआसाराम का नामसंगीन गुनाहों से जुड़ चुका है. इन्हीं वजहों से आसाराम का मीडिया और पुलिस से आमना सामना होता ही रहा है. गौरतलब है कि आसाराम के खिलाफ मामला तो दर्ज हुआ है, जांच भीबैठी है लेकिन कानून का शिकंजा उनपर आज तक नहीं कसा है. इन सब बातोंकेबाद महत्वपूर्ण प्रश्न यह उठता है कि क्या आसाराम पर लगे आरोप सच हैं या उन्हें फंसाने केलिए यह सब किया जा रहा है?लेकिन अगर यह आरोप सच हैं तो इस तरह से कब तक देश की जनता बेवकूफ बनती रहेगी और अध्यात्म और धर्म के नामपर ऐसे लोग कब तक लोगों को ठगते रहेंगे?

आसारामके ऊपरआज तक कोई कार्रवाई नहीं हुईहै क्योंकि उनका समाज में बड़ा नाम है, प्रतिष्ठा औरपैसा है. इसके अलावा यह भी हो सकता है कि वह बेकसूर होंलेकिन प्रश्न यह भी है कि बार बार उनके नाम के साथ ही आरोप क्यों जुड़ते हैं?आपको बता दें कि पीड़ित लड़की जोधपुर के गुरुकुल में पढ़ती थी. उसने आरोप लगाया है कि आसाराम बापू ने उसे अपने आश्रम में बुलवाकर उसके साथ रेपकरने की कोशिश की. दूसरी ओर आसाराम बापू की प्रवक्‍ता नीलम दुबे का कहना हैकि जांच हो जाने दीजिए दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा. आसाराम ब्रह्म ज्ञानी हैं वो ऐसा कभी नहीं कर सकते.

उल्लेखनीय है कि आसाराम के खिलाफ 376, 342, 506के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है और इस केसको ट्रान्सफरभी कर दिया गया है लेकिन देखना दिलचस्प होगा कि इस बार आसाराम पुलिस के शिकंजे में आते हैं या फिर बाल बाल बच जाते हैं. हालांकि पहली बार ऐसा हुआ है कि आसाराम के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है. इस वारदात के बाद सोशल मीडिया और मीडियामें आसाराम काफी सुर्खियों में रहे. लेकिन क्या कुछ दिनों तक ऐसे मुद्दों पर बात करने से यह मामले हल हो जाएंगे? नहीं, बिल्कुल नहीं, मीडिया को चाहिए कि इन मुद्दों पर लगातार नजर बनाए रखे और ऐसी समस्याओं को जड़ से उखाड़ने की कोशिश करे.

आपको बता दें कि बलात्कार के संगीन आरोप से पहले भी आसाराम कोइन आरोपों का सामना करना पड़ा था. हाल ही में आसाराम के खिलाफ एक भक्त को लात मारने के मामले में कोर्टने जमानती वारंट जारी किया था. जिसमें उन परआरोप है कि शहर के मैदा मिल परिसरमें प्रवचन के बाद पैर छूने झुके भक्त अमान सिंह दांगी को उन्होंने लातमारकर अभद्रता की थी.

आसाराम पर कुछ महीनों पहले गाजियाबाद में एक पत्रकार के सवाल पूछने परउसे थप्पड़ मारने का मामला सामनेआया था. रोहित गुप्ता नामक पत्रकार ने आसारामपर आरोप लगाया था कि आसाराम केएक समारोह कवरेजमें उनके द्वारा भक्तों को भड़काया गया था जिसकी वजह से आसाराम के समर्थकों नेउस पर हमला कर दिया और उसकी पिटाई की.

इसके अलावा आसाराम समय समय पर सुर्खियों में रहे. उन्होंने 8 जुलाई 2009को कहा कि पत्रकार कुत्ते हैं और मैं उनके आगे टुकड़े नहीं डालूंगा. 9 अक्टूबर 2011को दिल्ली में आसाराम ने राहुल गांधी के लिए भी एकविवादित बयान देते हुए कहा कि राहुल गांधी कम बुद्धी वाले बबलू हैं. इतना ही नहीं आसाराम और उनके बेटे पर मध्य प्रदेश के रतलाम में 700 करोड़ रुपए की जमीनहड़पने का संगीन आरोप लगा था. होली में पानी बचाने की अपील पर भी आसाराम एक विवादित ब्यान देने के बादसुर्खियों में आ गए. आपको बता दें कि आसाराम ने कहा कि पानी किसी के बाप का नहीं है.

आसाराम जैसे कई ऐसे बाबा और गुरू हैं जो अध्यात्म के नाम पर लोगों को मुर्ख बना रहे हैं. आपको बता दें कि ऐसे कई बाबाओं की कहानी सामने आ चुकी है जो कि बाबा बनने की आड़ में अपनी हवस का शिकार महिलाओं को बनाते हैं.कई बाबाओं को कैमरे में अश्लील हरकतें और यौन शोषण करते हुए रंगे हाथ पकड़ा गया है. इनमें  सबसे ऊपर  नामआता है स्वामी नित्यानंद का.नित्यानंदके ऊपर यौन शोषण के गंभीर आरोप लगे हुए हैं. आपको  बता दें की भीमानंद उर्फ इच्छाधारी बाबा के नाम से प्रसिद्ध बाबा को भी धर्म के नाम पर लोगों की भीड़ जुटाने की महारत हासिल थी लेकिन धर्म के आड़ में वह देह व्यापार का धंधा चलाता था.ऐसे बाबाओं से देशवासियों को सचेत होने की जरूरत है.

Powered By Indic IME