बीएमसी से गायब 10,000 फाइलों की होगी जांच

Posted on July 30 2013 by yogesh

मुंबई(पिट्स प्रतिनिधि) : मुंबई महानगरपालिका के बिल्डिंग प्लानिंग डिपार्टमेंट से गायब हुई हजारों फाइलों की अब जांच होगी और इसके लिए महाराष्ट्र सरकार ने उच्च स्तरीय समिति के गठन की घोषणा की है. गौरतलब हे कि राज्य विधानसभा में गत मंगलवार को विधायकों के हंगामे के बाद मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने समिति की घोषणा की.

मुख्यमंत्री ने सदन को बताया कि आरटीआई में दी गई शुरूआती जानकारी में 9157 फाइलें लापता होने की जानकारी दी गई थी. इसके बाद की गई जांच के बाद पता चला कि डिपार्टमेंट से गायब फाइलों की संख्या 10 हजार 531 हैं. आपको बता दे कि सभी दलों के विधायकों ने मिलकर यह मामला सीआईडी या सीबीआई को सौंपने की मांग करते हुए काफी हंगामा किया. हालांकि इस हंगामे के बीच मुख्यमंत्री ने बताया कि मुंबई के अग्रीपाडा, बांद्रा, कांदिवली और पंतनगर यह चार पुलिस स्टेशन मामले की जांच कर रहे हैं. इनकी जांच संतोषजनक ना होने पर मामला सीआईडी या सीबीआई को सौंपने का फैसला करेंगे. हालांकि मुख्यमंत्री के फैसले से असंतुष्ट एमएनएस विधायक सदन से बाहर चले गए. सदन मे इस बात को लेकर काफी नाराजगी दिखी कि तीन अलग अलग जगहों पर रखीं फाईलें एक साथ कैसे गायब हो जाती हैं? वहीं मुख्यमंत्री ने भी इसे गंभीर मामला बताया.

मुख्यमंत्री ने बताया कि 87% फाइलें 1991 से पहले की हैं और बची हुई 13% इसके बाद ही हैं. 1991 में बिल्डिंग निर्माण संबंधी नियमावली में परिवर्तन किया गया था. उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री के अनुसार उच्च स्तरीय समिति में अतिरिक्त मुख्य सचिव और एक अन्य सचिव होंगे. इसके साथ ही तीन महीने में समिति की रिपोर्ट सदस के पटल पर रखी जाएगी. फाइलों को सुरक्षित रखने के लिए इन्हें इलेक्ट्रॉनिक तरीके से भी स्टोर जाएगा. आपको बता दें कि बीएमसी की 1 लाख फाइलों को स्कैन किया जा चुका है.

Powered By Indic IME