अमर्त्य सेन राजनीति में दखल ना दें – उद्धव ठाकरे

Posted on July 30 2013 by yogesh

नई दिल्ली : गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को अमेरिका का वीजा नहीं दिए जाने का मामला तूल पकड़ते ही जा रहा है. इसी तर्ज पर अब अमर्त्य सेन भी निशाने पर हैं. गौरतलब है कि एक अंग्रेजी चैनल को दिए साक्षात्कार में मशहूर अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने कहा था कि, ‘एक भारतीय नागरिक होने के नाते मैं नहीं चाहता कि मोदी देश के प्रधानमंत्री बनें. उन्होंने अल्पसंख्यकों को सुरक्षित महसूस कराने के लिए कुछ नहीं किया है.’ सेन के इस बयान के बाद राजनीति के गलियारों में बहस नए सिरे से शुरू हो गई.

आपको बता दें कि सेन के इस बात से झल्लाए भाजपा सांसद चंदन मित्रा ने कहा कि, ‘अमर्त्य सेन नहीं चाहते हैं कि मोदी देश के प्रधानमंत्री बने. क्या सेन भारत में मतदाता हैं? अगली एनडीए सरकार को उनसे भारत रत्न वापस ले लेना चाहिए.’ वहीं दूसरी ओर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने भी सेन को सलाह दी है. उद्धव ठाकरे ने मोदी का पक्ष लेते हुए लिखा कि मोदी एक राज्य के मुख्यमंत्री हैं. किसी आतंकी संगठन के मुखिया नहीं जो उनके वीजा का विरोध किया जा रहा है. उद्धव ठाकरे ने अपने मुखपत्र सामना में लिखा कि अमर्त्य सेन से भारत रत्न लेने की मांग गलत है लेकिन उन्हें राजनीति में दखल नहीं देना चाहिए.

उल्लेखनीय है कि नोबल पुरस्कार विजेता अमर्त्य सेन ने नरेंद्र मोदी के विकास मॉडल की भी आलोचना की और कहा कि वह मोदी के मॉडल के पक्ष में नहीं हैं.

Powered By Indic IME