भारत में हैं प्रिंस विलियम के रिश्तेदार ?

Posted on June 22 2013 by yogesh

लंदन : ब्रिटेन की राजगद्दी के दोनों उत्तराधिकारी प्रिंस विलियम और प्रिंस हैरी की रगों में भारतीय खून दौड़ रहा है. इस खुलासे के बाद वैज्ञानिक भारत के गुजरात राज्य के सूरत शहर में उनके रिश्तेदार की तलाश कर रहे हैं. गौरतलब है कि एडिनबर्ग विश्वविद्यालय के अनुवांशिकी विशेषज्ञ जिम विल्सन और ब्रिटेन डीएनए नाम के एक संगठन के अनुसार प्रिंस विलियम के एक रिश्तेदार के लार का परीक्षण करने के बाद इस बात की जानकारी मिली है कि दोनों राजकुमारों का यह भारतीय संबंध अपने ननिहाल की देन है.

विशेषज्ञ का कहना है कि गहन जांच के बाद पता चला है कि जिन एलिजा केवार्क की वजह से प्रिंस विलियम और प्रिंस हैरी की रगों में भारतीय खून दौड़ रहा है उन्होंने दो बच्चों को जन्म दिया था. एक बच्ची कैथरीन स्कॉट फोर्ब्स को उनके पिता थियोडोर ने इंग्लैंड भेज दिया था. कैथरीन के जन्म के दो साल बाद एलिजा ने एक और बच्चे एलेक्जेंडर को जन्म दिया था. एलेक्जेंडर भारत लौट गया और वह कई स लोंतक जीवित रहा.

डॉ.विल्सन के अनुसार इसी अधार पर उन्हें उम्मीद है कि एलेक्जेंडर ने संभवत: भारत में संबंध बनाए होंगे और इससे उनके बच्चे भारत में ही पैदा हुए होंगे. इसी वजह से प्रिंस विलियम से उस बच्चे का नाता होगा और वह उसे तलाश कर रहे हैं. यह तलाश दूर के संबंधियों को पास लाने की एक कोशिश है. उन्होंने कहा कि एलिजा के पति थियोडोर ईस्ट इंडिया कंपनी में काम करते थे और वह सूरत में ही रहते थे. इसके बाद एलेक्जेंडर ने भी सूरत में ही घर बसाया था. उस समय यह शहर ब्रिटेन के कब्जे में था. यही वजह है कि प्रिंस विलियम के संभावित रिश्तेदार की तलाश सूरत में की जा रही है.

डॉ.विल्सन ने बताया कि शोधकर्ताओं ने जन्म, शादी और मृत्यु प्रमाणपत्रों के अध्ययन के बाद एलिजा के दो जीवित रिश्तेदारों को ढूंढ निकाला और जब इनके लार का परीक्षण किया गया तो पता चला कि ये दोनों प्रिंसेस डायना की मां के रिश्तेदार हैं. उनका कहना है कि प्रिंस विलियम के शरीर में भारतीयों में पाए जानेवाले खास तरह के माइटोकांड्रियल डीएनए हैं. उल्लेखनीय है कि इस डीएनए की खास बात यह है कि यह किसी भी बच्चे को अपनी मां से मिलता है. यह पिता से बच्चे तक नहीं जाता. इसी वजह से यह डीएनए प्रिंस विलियम और प्रिंस हैरी तक ही रहेगा.

Powered By Indic IME