यह मनरेगा है या मन चाहे वह करेगा है?

Posted on April 30 2013 by yogesh

यह मनरेगा है या मन चाहे वह करेगा है?
कैग की रिपोर्ट ने कहा, हुआ है करोड़ों का घोटाला

नई दिल्ली : देश में एक के बाद खुलासे हो रहे हैं और लोग सिर्फ देखते रह जा रहे हैं. एक तरफ जहां लोग दो वक्त की रोटी और साफ पानी के लिए तरस रहे हैं वहीं दूसरी ओर करोड़ो रूपये के घोटाले से लोग आश्चर्यचकित हैं. जिन योजनाओं की शुरूआत गरीब लोगों को राहत पहुंचाने के लिए किया गया है उसमें भी घपले किए जा रहे हैं. गौरतलब है कि कांग्रेस और राहुल गांधी की महत्वकांक्षी योजना महात्मा गांधी रोजगार गैरंटी योजना (मनरेगा) की एक बार फिर पोल खुल गई है. कैग की रिपोर्ट के अनुसार मनरेगा फंड में करोड़ों रूपयों की गड़बड़ी हुई है.

रिपोर्ट के अनुसार गांवों में रोजगार घटाना है और करीब २३ राज्यों में वाजिब मजदूरी नहीं है. इसके पीछे वजह है कि फंड निकालने में नियमों का उल्लंघन करना. मार्च २०११ में १९६०.४५ करोड़ फंड निकाला गया. यूपी, बिहार, महाराष्ट्र में ४६ प्रतिशत लोग अब भी गरीब हैं जबकि सिर्फ २० प्रतिशत लोगों को मनरेगा से फंड मिला है.

उल्लेखनीय है कि २००६ में इस योजना को कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुरू किया था. इस योजना में जॉब कार्ड के जरिए लोगों का लेखा जोखा रखा जाता है.

Powered By Indic IME