१९९३ मुंबई ब्लास्ट में १८ में से १६ की सजा बरकरार

Posted on March 25 2013 by yogesh

संजय दत्त फिर सलाखों के पीछे

नई दिल्ली : १९९३ मुंबई ब्लास्ट में सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है जिसके अनुसार दोषियों के २० साल से जेल में बंद होने और उनकी कमजोर आर्थिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए मृत्युदंड कम करने का निर्णय लिया गया है. सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा और महत्वपूर्ण फैसला सुनाते हुए याकूब मेनन की सजा को बरकरार रखा है. बाकी दस भगोड़ों की फांसी की सजा को सुप्रीम कोर्ट ने उम्रकैद में बदल दिया है.

कोर्ट ने कहा कि याकूब मेनन और दाऊद इब्राहिम सहित अन्य सभी फरार आरोपी तीरंदाज थे जबकि शेष आरोपी उनके हाथों से चलनेवाले तीर थे. कोर्ट के अनुसार १९९३ के आरोपियों को पाकिस्तान में बम बनाने और उन्नत हथियारों को चलाने क प्रशिक्षण दिया गया. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई भी १९९३ के धमाकों में शामिल थी. कोर्ट ने १९९३ के धमाकों के लिए पुलिस, सीमा शुल्क और तटरक्षक की लापरवाही को जिम्मेदार ठहराया.

वहीं कोर्ट ने १९९३ बम धमाका मामले में शस्त्र कानून के तहत संजय दत्त की दोषसिद्धि को बरकरार रखा है. संजय दत्त पर एक बार फिर मूसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा है. सुप्रीम कोर्ट के सुनाए गए फैसले के अंतर्गत दोषी ठहराए जा चुके बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता संजय दत्त की छह साल की सजा को घटाकर पांच साल कर दिया गया है. कोर्ट के अनुसार संजय दत्त को एक महीने के अंदर सरेंडर करना है. संजय गैर-कानूनी हथियार रखने के दोषी पाए गए हैं.

संजय दत्त इसी मामले में पहले भी १६ महीने की सजा काट चुके हैं, अब उन्हे और साढ़े तीन साल जेल की सलाखों के पीछे गुजारनी होगी. आपको बता दें कि बम ब्लास्ट के बाद १९९३ में पहली बार संजय दत्त को गिरफ्तार किया गया था और उनके पास से एके-५६ राइफल मिली थी. जिसके बाद उनपर टाडा जैसा कड़ा कानून लगा. १६ महीने की जेल के बाद अक्टूबर १९९५ में संजय दत्त सुप्रीम कोर्ट से जमानत पर जेल से छूटे. उन्हें २००७ में फिर से गिरफ्तार किया गया हालांकि वह जल्द ही छूट गए. टाडा कोर्ट ने उन्हें आतंकी तो नहीं माना लेकिन आर्म्स एक्ट के तहत उन्हें ६ साल की सजा सुनाई थी.

जब संजय दत्त के सजा के बारे में प्रिया दत्त से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं समझ में आ रहा है कि वह क्या कहें. खबर के अनुसार फैसलों के मद्देनजर संजय दत्त ने अपनी सारी शूटिंग कैंसल कर दी है और घर पर ही हैं. आपको बता दें कि मुंबई में हुए १२ सिलसिलेवार हमले से मुंबई का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया था. इन धमाकों में २५७ लोगों की जान गई थी और ७१३ लोग जख्मी हुए थे.

Powered By Indic IME