‘रेप गेम्स’ को बंद करने की मांग

Posted on February 25 2013 by yogesh

कोलकाता : ‘रेप गेम’ एक ऐसा जापानी वीडियो गेम है जिसमें प्लेयर्स को महिलाओं के रेप करने की चुनौती दी जाती है. भारत में भी इस गेम पर प्रतिबंध लगाने की मांग की जा रही है. ऐसी रिपोर्ट आ रही है कि इससे बच्चे खासकर किशोरों में रेप गेम्स की लत लग रही है. पश्चिम बंगाल मानवाधिकार आयोग(डब्ल्यूएचआरसी) ने इस मामले में सुझाव मांगा हैं. आयोग के संयुक्त सचिव सुजय कुमार हल्दर के अनुसार आयोग ने इस मामले को लेकर गंभीर चिंता व्यक्त की है.

सुजय कुमार ने कहा है कि हमने राज्य के गृह सचिव से चार सप्ताह के भीतर रिपोर्ट मांगी है कि इस तरह के ऑनलाइन खेलों पर सूचना प्रौद्योगिकी कानून के तहत किस प्रकार प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं.

आपको बता दें कि थ्रीडी वीडियो गेम ‘रेपले’ जापान की कंपनी ‘इल्युजन’ द्वारा २००६ में बनाया गया था. इस गेम में एक पुरूष महिला एवं उसकी दो बेटियों क साथ दुष्कर्म करता है. गौरतलब है कि यह गेम अर्जेंटीना, मलेशिया एवं थाइलैंड सहित कई अन्य देशों में प्रतिबंधित है. कोलकाता के उच्च न्यायालय के एक वकील के मुताबिक राज्य सरकार के पास सूचना प्रौद्योगिकी कानून २००० की धारा ६७ के तहत इस पर प्रतिबंध लगाने का अधिकार है.

Powered By Indic IME