सास – ससुर के आशिर्वाद से खुश रह सकते हैं आप

Posted on December 26 2012 by yogesh

लंदन : कहावत है ‘सारी खुदाई एक तरफ और जोरू का भाई एक तरफ’, लगता है इस कहावत में जोरू के भाई के साथ साथ अब जोरू के माता पिता का नाम भी जुड़ जाएगा. जी हां दुनिया में ऐसे कई शोध हो चुके हैं जो अजीबो गरीब है लेकिन हाल ही में हुए एक शोध द्वारा पता चला है कि जो पति अपने सास ससुर के साथ अच्छे संबंध बनाकर रखते हैं उनका अपनी पत्नी के साथ संबंध अच्छा रहता है और तलाक होने की आशंका २० प्रतिशत कम हो जाती है. है न काफी दिलचस्प रिसर्च. अब प्रत्येक पति जो अपनी पत्नी से अच्छे संबंध चाहता है उसे अपने सास-ससूर को खुश रखना पड़ेगा.

यह अध्ययन दो दशक तक चला है और उसके बाद यह नतीजा निकला है. वहीं महिलाओं के संबंध में यह बात उल्टी है. जिन बहुओं का अपने सास-ससुर के साथ मधुर संबंध रहता है उनकी अपने पति से तलाक होने की आशंका २० प्रतिशत बढ़ जाती है. शोधकर्ताओं का कहना है कि जो पत्नियां अपने सास-ससुर को पसंद करती हैं उनके लिए तय समय तय करना मुश्किल होता है और सब कुछ गड़बड़ हो जाता है. यह खबर डेली मेल में प्रकाशित हुई है. यह शोध मिशिगन के शोधकर्ताओं ने २६ सालों से अधिक समय तक एक ही नस्ल के ३७३ दंपतियों के ऊपर किया. शोध में पाया गया कि जो पति अपने सास-ससुर को खुश रखते हैं उनके बीच प्यार बढ़ता है और वह खुशहाल जिंदगी बिताते हैं.

गौरतलब है कि इस शोध में जिन दंपतियों को शामिल किया गया उनकी उम्र २५ से ३७ वर्ग के बीच थी और १९८६ में जब शोध शुरू हुआ था तो इनकी शादियों को एक साल ही हुआ था. इस संदर्भ में मनोचिकित्सक और शोध प्रोफेसर डॉ.टेरी ओरबुच ने कहा कि,’ऐसा होने के पीछे यह कारण है कि महिलाओं के लिए रिश्ते बहुत अहम होते हैं. उनकी पहचान एक मां और एक पत्नी के रूप में उनके अस्तित्व के केंद्र में होती है. वे अपने सास-ससुर की कही बातो को अपनी पहचान में हस्तक्षे पके रूप में देखती हैं.’ इस शोध में पतियों को सलाह दी गई है कि वे को अपने सास-ससुर को विशेष और महत्वपूर्ण स्थान दें.

Powered By Indic IME