लाईफ-स्टाइल – भारतीय नारी की पहचान है विविध रंग की साड़ियां…

Posted on October 15 2012 by yogesh

जमाना चाहे कोई भी हो साड़ी का फैशन कभी पुराना नहीं होता. भारतीय परंपरा में साड़ी की अहमियत सदियों पुरानी है. एक लिहाज से साड़ी को भारतीय परिधान भी कहा जाता है. साड़ी में भारतीय महिला हो या किसी अन्य देश की खूब सुंदर लगती है. खास मौकों पर महिलाएं ज्यादातर साड़ी ही पहनना पसंद करती हैं. साड़ी पहनने का रिवाज भले ही काफी पुराना हो लेकिन समय समय पर इसे नए फैशन के रंग में रंगा गया है. आजकल फैशन डिजाइनरों ने साड़ी क एक नया ही अंदाज दे दिया है जिसमें महिलाएं काफी सुंदर और ग्लैमरस लगती हैं. अब आप चाहे पारंपरिक दिखना चाहती हों या ग्लैमरस दोनों ही अंदाज आप साड़ी में बखुबी पा सकती हैं. तो आईए जानते हैं आप क्या क्या पहन सकती हैं कुछ खास मौकों पर…

आजकल बाजरों में साड़ियां छाई हुई हैं. शादियों में महिलाएं साड़ियों में ही दिखती हैं. इस सीजन में महिलाओं को हल्के रंग ही अच्छे लग रहे हैं. ज्यादा गर्मी होने की व जहसे भी हल्के रंग का कलर मांग में है. ज्यादातर हरे रंग की साड़ियां लोग खरीद रहे हें. इसके साथ ही अन्य रंग भी प्रचलन में है. महिलाएं ज्यादातर सफेद रंग भी पहनना पसंद करती हैं. सफेद रंग के साथ अन्य सभी रंग भी जंचते है. पिछले एक साल से नेट साड़ी और लहंगा साड़ी लोगों को बहुत पसंद आ रहा है. इन साड़ियों में महलाएं खूब गजब ढ़ाती हैं. पूरी नेट, हाफ नेट और शोल्डर नेट कई तरह की किस्में बाजार में उपलब्ध हैं जो आप २५०० से १०,००० तक के रेट में खरीद सकती हैं.

हमेशा से सिल्क साड़ियां हैं सबकी पसंद. साड़ियों की खास मांग रहती हैं खासकर सिल्क साड़ियों की. सादे सिल्क साड़ियों के साथ उनपर काम किया हुआ सिल्क साड़ी भी आपको मिल सकता है. हैवी सिल्क, पेंच वर्क, लहंगा साड़ी, नेट साड़ी और कोलकाता वर्क की साड़ियों बाजार में आई हुई हैं. सिल्क के अलावा आप कांजीवरम, शिफॉन, जॉर्जेट और क्रेप की साड़ियां भी प्रयोग में ला सकती हैं.

वैसे तो महिलाएं फैशन पर ज्यादा ध्यान देती हैं लेकिन वह साड़ियों का प्रयोग भी फैशन के रूप में करने लगी हैं. पिछले दिनों बॉलिवुड में भी साड़ियों की बहार आई हुई थी और आज भी उसका क्रेज बना हुआ है. तो आप भी साड़ियों में सज सवरकर बन जाएं ग्लैमरस भारतीय नारी.

Powered By Indic IME