Archive for July 3rd, 2012

स्त्री के बिना जिंदगी अधूरी ….

Posted on July 3 2012

मुंबई ( पल्लवी पवार) – समाज मे स्त्री को कई रुपों में जाना जाता हैं. वह एक माँ, बहन, पत्नी, दादी, नानी इन सभी रुपों में अपनी भूमिकाओ को अच्छी तरह निभाती है. वह एक माँ बनकर बच्चों पर ममता बरसाती है, पत्नी बनकर उसे …

चार भाव

Posted on July 3 2012

योग की प्रक्रिया से (भले वह आसान हो या षट्कर्म हो) पुस्तिका के चार भावों में से किसी एक भाव की पूर्ति करती हैं. शिथिलीकरण में ‘छोड़ने’ का भाव जरूरी है वैराग्य की शुरूआत ही छोड़ने से होती है. वैसे ही अन्य भावो की प्राप्ति …

फोटो ऑफ दि वीक

Posted on July 3 2012

सप्ताह की खास मुलाकात रामदास कदम- शिवसेना विधायक

Posted on July 3 2012

भ्रष्ट नेताओं पर सीबीआई की जांच होनी चाहिए…
रामदास जी अपनी स्कूली शिक्षा ग्रहण करने के दौरान ही शिवसेना से जुड़ गए थे. इनको शिवसेना पार्टी के मराठी नारे ने अपनी तरफ आकर्षित किया. इन्होने अपने कार्यकाल में लोगों के हित के लिए अच्छे कार्य किए …

भ्रष्टाचार का सिंडीकेट राजनेताओ और सरकारी बाबुओं की साठगाठ से होता है भ्रष्टाचार

Posted on July 3 2012

मुंबई (चंदन पवार) Email: chandanpawar.pits@gmail.com
आम आदमी जब सुबह उठता है तो पहले अखबार पढ़ता है या टी.वी. चैनल पर खबर देखता है, कि आज की सुबह कौन सी बुरी खबर लेकर आयी है? क्योंकि लोगों का विश्वास कुछ अच्छा हो सकता है इससे उठ गया …

आधुनिक भारत में पिछड़े हम… एक ही पहलू को हम दो चश्में से देखने लगे हैं

Posted on July 3 2012

मुंबई(रजिया निसार): परंपरा, संस्कृति, मजहब या धर्म यहां जितने भी शब्दों का उच्चारण हुआ है, क्या इनको प्रत्येक व्यक्ति के जिंदगी की सही दिशा को निर्धारित करने का मानक मान लेना चाहिए? क्या यही वह शब्द हैं जिनके बिना भारत के लोगों की जिंदगी बड़ी …

आज लडकियां आज़ाद है मगर जागरूक नही सेक्स संबंधी बढ़ रही है हत्याएं

Posted on July 3 2012

मुंबई(चंदन पवार) Email:chandanpawar@gmail.com
आज की लड़कियां आजाद  हैं और खुले में साँस ले रही है मगर आज इनका ज्यादा खुलापन इनको ही मौत के मुहँ मे ले जा रहा है. इसलिए सेक्स संबंधी हत्याएं दिन पर दिन बढ़ रही है. उदाहरण के रूप में हम बहुचर्चित …

अमिताभ को भा गई ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’

Posted on July 3 2012

मुंबई (पिट्स फिल्म प्रतिनिधि) – वैसे तो हमने कई बार बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन को अपनी पसंदीदा फिल्म की तारिफ करते हुए देखा है. पर इस बार अमिताभ बच्चन ने हालंहि मे रिलीज हुई ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ की जमकर तारिफ की है. शुक्रवार को रिलीज …

टेलीविज़न का बदलता चेहरा

Posted on July 3 2012

मुंबई (पिंकी सिंह) – भारत में टेलीविज़न सीरियल्स को भी आज उतनी ही अहमियत दी जाती है जितनी की बॉलीवुड की फिल्मों को. आज के समय में टेलीविज़न की लोकप्रियता लोगों में खास कर गृहणीयों मे काफी बढ़ गई है. पहले 80 के दशक में …

हेल्थ टिप्स् रोगों के इलाज मे सहायक संगीत थेरेपी

Posted on July 3 2012

हमने अक्सर देखा है कि जब भी हम तनाव में हम कुछ ऐसा करना चाहते है जिससे हमारा तनाव कम किया जाए. इसके लिए हम टी वी देखते है, डांस करते है, संगीत सुनते है और वो हर काम करते है जो हमें पसंद होता …

Powered By Indic IME