म्हाडा के घरो के लिए आम जनता में उत्कुकता नही इस साल सबसे कम आए फार्म

Posted on May 28 2012 by pits

मुंबई (पिट्स प्रतिनिधि)- म्हाडा (महाराष्ट्र गृहनिर्माण व क्षेत्रविकास प्राधिकरण) जिसे आम लोगो को सस्ते घर दिलाने मे विख्यात माना जाता है. म्हाडा के जिस फ्लैट कि लॉटरी के लिए लोग साल भर इंतजार करते थे पर अब लगता है लोगो मे इसकी छवि कुछ और ही बनती जा रही है. इसलिए 31 मई को 2593 घरो की निकाले जानेवाली लॉटरी के लिए आनेवाले फार्म कि संख्या कम होती दिखाई दे रही है. 22 मई तक सिर्फ एक लाख 30 हजार के आसपास ही ऑनलाइन फार्म म्हाडा तक पहुंचे है. पिछले पांच सालो से म्हाडा के घरो की लॉटरी निकाली जा रही है पर साल दर साल म्हाडा के घर लेनेवाले लोगो की संख्या कम होती जा रही है. इस तरह म्हाडा के घर के प्रति लोगो कि रुचि कम होते देख म्हाडा के अधिकारी भी हैरान है.

म्हाडा मे इस तरह की गिरावट का एक कारण उसकी बढ़ती किमते भी हो सकती है. 2011 मे लॉटरी के विजेताओ को भी एक वर्ष बाद अधिक रकम देने का फरमान सुना दिया था. 2012 मे निम्न आय वर्ग के लोगो को घरों कि किमत मे तीन से चार लाख और मध्यम और उच्च आय वर्ग के लोगो मे आठ से 15 लाख की रकम बढा़ दी थी. जिससे म्हाडा मे सस्ते घर का सपना देखनेवाले आम लोगो ने अपना मुंह फेर लिया. 2011 के मुकाबले 2012 मे फार्म की संख्या बहुत कम है. इस बारे मे लोगो का कहना है कि म्हाडा मे और घरो के मुकाबले सस्ते घर मिलते तो जरुर है पर उन घरो कि दशा तो रामभरोसे है. यही वजह है कि लोग म्हाडा के घरो की ओर कम और निजी निर्माताओ द्वारा बनाए गए घरो कि ओर ज्यादा आकर्षित हो रहे है. अगर यही हाल रहा तो आने वाले दिनो मे लॉटरी के आवेदन फार्म की संख्या लाख से भी कम हो जाएंगी.

Powered By Indic IME