पलांडे और सिमरन नही हैं मामा-भांजी या भाई-बहन फिल्म की कहानी की तरह खेलते हैं खूनी होली…

Posted on April 23 2012 by pits

मुंबई(पिट्स प्रतिनिधि): अरूण टिक्कू और करण कुमार कक्कड़ मर्डर केस में गिरफ्तार विजय पलांडे और सिमरन सूद के बीच मामा-भांजी या भाई-बहन का नहीं बल्कि पति-पत्नी का रिश्ता है. सिमरन १९९५ में में मुंबई आई थी और १९९८ में उसने विजय पलांडे से शादी कर ली थी. पलांडे उन दिनों अंधेरी के कॅापर चिमनी होटेल में बतौर डिलीवरी बॅाय काम करता था. इस होटेल से विजय एक जिम में रोज़ाना खाना ले जाता था और इसी जिम में सिमरन भी आया करती थी. इसी दौरान इन दोनों के बीच प्यार पनपा और इस प्यार ने शादी का रूप ले लिया. कुछ दिनों पहले ही पलांडे ने एक जर्मन महिला से भी शादी की थी. लोखंडवाला में मैच फिक्सिंग करनेवाले एक व्यक्ति के साथ पलांडे के संबंध है साथ ही यह फिल्म हस्तियों और राजनैतिक लोगों के साथ भी संपंर्क में रहा है. पलांडे ने अपने गिरोह में ४० से ५० महिलाओं को शामिल किया था जिसके जरीए वह विभिन्न गलत कामों को अंजाम देता था और इसी के वजह से पलांडे का साम्राज्य फैला हुआ है.

पुलिस अधिकारियों ने अभी इस बात का खुलासा नहीं किया है कि इन महिलाओं को पता था कि पलांडे की एक और शादी हुई है या नहीं.

पलांडे से पूछताछ में गुजरात के चार राजनेताओं के नाम सामने आए है.सुत्रों के मुताबिक मुंबई के एक राजनेता ने एक दूसरे राजनेता के जरिए पलांडे से मुलाकात की थी और एक मैच में डेढ़ करोड़ रुपये लगाए थे. पलांडे ने यह रुपया करण कुमार कक्कड़ को दिए थे और इसी सट्टेबाजी को लेकर इनके बीच बाद में मतभेद पैदा हुआ.

इस हत्याकांड से जुड़ी कई सनसनीखेज जानकारियां विजय पलांडे ने मुंबई क्राइम ब्रांच को दिए हैं. उसने बताया है कि दिल्ली में रहनेवाला करण कक्कड़ भी किसी से कम नहीं है. मुंबई क्राइम ब्रांच के उच्च पुलिस आयुक्त देवेन भारती ने बताया कि करण कक्कड़ के खिलाफ दिल्ली के ग्रेटर कैलाश पुलिस स्टेशन में एक मामला २०१० में दर्ज है, जिसके अनुसार एक मॅाडल ने व्यवसायी उमेश अग्रवाल पर बलात्कार का मामला दर्ज किया था. जब पुलिस ने उस व्यवसायी को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो उसने बताया कि उसने करण कक्कड़ को १ लाख ८० हजार रुपये दिए थे, जिसके बदले उसने मॅाडल को उसके पास भेजा था. परंतु बाद में यह खेल उमेश अग्रवाल के लिए मंहगा पड़ा और वह मॅाडल उसे ब्लैकमेल करने लगी और बाद में जब व्यवसायी ने पैसे देने से मना कर दिए तो उसने उसके खिलाफ पुलिस में बलात्कार का मामला दर्ज कर दिया. करण कक्कड़ दिल्ली का व्यवसायी था जिसका अपहरण कर हत्या कर दी गई थी और उसके हत्या के आरोप में क्राइम ब्रांच ने विजय पलांडे, सिमरन सूद, मनोज गजकोश, धनंजय शिंदे को गिरफ्तार किया गया है. पिछले दिनों जब दिल्ली की तरह मुंबई में करण कक्कड़ ने मॅाडल सिमरन सूद को एक नेता के पास भेजने का प्रपोजल रखा तो उसने फौरन यह बात पलांडे को बता दी, जिसके चलते करण कक्कड़ की हत्या हुई. दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े महानगरों में ऐसे सेक्स रैकेट सक्रीय हैं जहां स्ट्रगल कर रही मॅाडल और हिरोइनों का इस्तेमाल रईसजादों को फसाने के लिए किया जाता है और बाद में संपत्ति हड़प कर उनकी हत्या कर दी जाती थी.

Powered By Indic IME