अंधेर नगरी चौपट राजा…

Posted on April 23 2012 by pits

सायन इलाके के बिल भरने के १२ के १२ सुविधा केंद्र ठप्प पड़े हैं

फिर भी उनके नाम और फोन नंबर महानगर गैस की वेबसाइट पर…

मुंबई  (चंदन पवार): १०५० करोड़ का टर्नओवर करनेवाली और ५.५ लाख घरों को गैस कनेक्शन देनेवाली महानगर गैस के बिलों की वसूली के मामले में कितनी लापरवाही बरती जा रही है इनकी वजह से लोगों को परेशान होना पड़ रहा है. हमने जब सायन क्षेत्र में सर्वे किया तो हमें महानगर गैस का बिल भरने के लिए महानगर गैस की तरफ से पूरे मुंबई में सुविधा केंद्र पर बिल भरने की व्यवस्था की गई हैं. ऐसा पता चला परंतु जब हमने सायन ईस्ट,वेस्ट की सुविधा केंद्रों का मुआयना किया तो सभी केंद्रों में हमें ऐसी बातों का पता चला कि सालों साल बीत गए हैं लेकिन लगता है महानगर गैस के अधिकारियों को मालूम ही नहीं कि कितने सुविधा केंद्र बंद पड़े हुए हैं? कुछ एजेंटों के फोन नंबर बंद हो गए हैं, कुछ एजेंटों के दुकान में कोई और बैठा रहता है जिसे यहां महानगर गैस का बिल भरते हैं यह भी मालूम नहीं है. एक एजेंसीवाले ने बताया कि आजतक हमने एक भी बिल लोगों से लेकर भरा नहीं है. इसका मतलब यह हुआ कि महानगर गैस के अधिकारी अब तक यह भी जान नही सके कि लोगों का बिल भरने का काम सही ढ़ंग से चल रहा है की नहीं. इस व्यवस्था पर ध्यान देनेवाले अधिकारी क्या महानगर गैस से महिने का वेतन बिना काम ही किए ले रहे हैं? क्या इसकी जिम्मेदारी महानगर गैस के वरीष्ठ अधिकारियों को लेनी चाहिए या नहीं?

मुंबई के दूसरे और इलाके में हमने सर्वे किया तो पता चला है कि २३२ सुविधा केंद्र मे से सिर्फ १२४ सुविधा केंद्र ही चालू हैं. इस से पता चलता है कि महानगर गैस के अधिकारी अपने काम में कितनी दिलचस्पी दिखा रहे हैं. जब हमने महानगर के ग्राहक सेवा केंद्र में फोन लगाया तब हमने उनसे महानगर गैस के डायरेक्टर का नाम पूछा तो उनको डायरेक्टर का नाम मालूम ही नही था. जो भी सुविधा केंद्र चालू हैं उस सुविधा केंद्र पर आम आदमी बिल भरने के लिए अगर जाता है तब उसको एक बिल के पीछे कितने रुपये देने चाहिए, इस सवाल पर भी उनके पास कोई जानकारी नहीं थी. हमने जब उनको और एक मौका दिया कि आप कृपया अपने सुविधा केंद्र के लिए बनाए गए नियमों को फिर से देखकर हमें जवाब दें लेकिन उन्होने हमसे कहा कि मैं सभी नियम देखकर ही आपसे बात कर रहा हूं कि कहीं पर भी यह नहीं लिखा है कि सुविधा केंद्र में लोगों से बिल भरने के एवज में कितने रुपये ग्राहक को सुविधा केंद्र के एजेंटों को देने होंगे यानी “अंधेर नगरी चौपट राजा” जैसा व्यवहार चल रहा है. जब हमने सुविधा केंद्र के एक दुकानदार से बात की तब उसने नाम नहीं छपवाने के बदले में बताया कि हम ग्राहकों से एक बिल भरवाने के एवज में १० से ५० रुपये के बीच में लेते हैं. यानी जैसा ग्राहक वैसा पैसा. इस तरह से लोगों को लूटने का काम जोरों से चल रहा है यानी महानगर गैस ने अपनी वेबसाइट पर मुफ्त में उन सुविधा केंद्रों का नाम दे रखा है जो महानगर गैस का काम नहीं कर रहे हैं.

Powered By Indic IME