नगरसेवक करना चाहते हैं विधायकों की बराबरी…

Posted on February 29 2012 by pits

मुंबई (पिट्स प्रतिनिधी):

देश की सबसे बड़ी महानगरपालिका माने जानेवाली मुंबई मनपा में जनता के वोट द्वारा चुनकर आए नगरसेवक को जनता की सेवा करने के लिए १०,००० रुपये महिना वेतन मिलता है. मुंबई में एक आम आदमी को इतने पैसे में भले ही अपना गुजारा करना मुश्किल लगता हो पर नगर सेवक इतने ही पैसो में ऐशो आराम की जिंदगी बिता रहे हैं.

यह सोचकर तो ऐसा ही लगता है कि ये कैसे मुमकिन है? पर मुंबई के नगरसेवकों की ठाठ देखकर इस बात पर मोहर लग जाती है. मुंबई के कई ऐसे नगरसेवक हैं जो नगरसेवक बनने के कुछ सालों में ही करोड़ों के मालिक बन जाते हैं. यह करोड़ों रुपये उनकी मेहनत और वेतन के तो नहीं हो सकते और इसमें कोई दो राय नहीं है. टेंडर के कमिशन से उनकी रातों रात लाखो करोड़ों की कमाई हो जाती है. ऐसे में भी कई नगरसेवक अपनी तनख्वाह बढ़ाने की बात करते हैं और सभागृह में इस मुद्दे को बहुत गंभीरता से उछालते हैं. उनके अनुसार जो सुविधाएं विधायको को मिलती हैं उनकी तुलना मे़ हमें कुछ भी नही मिलता. पर अगर देखा जाए तो नगरसेवक भी खूब फायदे में रहते हैं जैसे कि इनके मोबाईल फोन के लिए ३००० रुपये अलग से मिलते हैं. इनके स्वास्थ्य संबंधी इलाज भी बीएमसी करवाती है. साथ ही इस बार तो नगरसेवकों को लैपटॅाप भी दिया गया. पर यह बात गौर करनेवाली है कि नगरसेवकों की मानधन में १५० प्रतिशत की बढ़ोत्तरी करने का प्रस्ताव राज्य सरकार के पास २०१० से ही ठंडा बस्ते में पड़ा हुआ है. अब इस बात का इंतज़ार करना पड़ेगा कि इस वेतन में बढ़ोत्तरी  कब होती है?

Powered By Indic IME